चीन पुनरुत्थान की प्रेरणा शक्ति बन सकेगा

2020-06-30 11:17:29
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

ब्राजील के रियो डी जनेरियो संघीय विश्वविद्यालय की प्रोफेसर मोनिका ब्रुकमैन ने हाल में अर्जेंटीना की मीडिया के साथ साक्षात्कार में कहा कि लाटिन अमेरिका, अमेरिका और यूरोप में कोविड-19 का बहुत प्रभाव पड़ा है। लाटिन अमेरिकी देशों को समन्वय और सहयोग करके एक साथ महामारी का मुकाबला करना चाहिए।

ब्रुकमैन का मानना है कि अमेरिका, यूरोप और लाटिन अमेरिका के देशों के आर्थिक विकास की प्रवृत्ति महामारी के सामने उन के कदम पर निर्भर है। लाटीन अमेरिका के विभिन्न देश संभवतः क्षेत्रीय सहयोग को उन्नत करने की तरीके से संकट को दूर करेंगे।

ब्रुकमैन ने कहा कि चीन और अन्य दक्षिण-पूर्वी एशियाई देश वैश्विक आर्थिक पुनरुत्थान की प्रेरणा शक्ति बन सकेंगे और आगामी कई सालों में विश्व आर्थिक सिस्टम पर अहम असर पड़ेगा। स्पेन के आर्कबिशप यूनिवर्सिटी ऑफ कैमियास के अर्थशास्त्र की प्रोफेसर एलिसा अलाहिर ने भी बताया कि विश्व, खासतौर पर लाटिन अमेरिकी देशों के अर्थतंत्र पर चीन का बड़ा असर है। चीन लाटिन अमेरिकी देशों का प्रमुख निवेशक है। चीन सरकार द्वारा पेश किये गये बेल्ट एंड रोड आह्वान ने लाटिन अमेरिकी देशों की कच्ची सामग्री के निर्यात को प्रोत्साहित किया है।

(श्याओयांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories