डब्ल्यूएचओः महामारी का राजनीतिकरण करने से बचें

2020-06-30 11:15:44
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

29 जून को विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने कोविड-19 पर एक नियमित न्यूज ब्रीफिंग बुलायी।  डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम घेब्रेयसस ने कहा कि 30 जून तक विश्व में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की संख्या 1 करोड़ तक पहुंची है और मृत मामलों की संख्या 5 लाख है। सभी लोगों के बारे में सोचना चाहिए और जीवन को बचाने की हरसंभव कोशिश करनी चाहिए।

टेड्रोस अधानोम घेब्रेयसस ने कहा कि छह महीने  पहले किसी सोचा नहीं था कि कोविड-19 विश्व और लोगों के जीवन में खलल डाल सकता है। कोविड-19 के प्रकोप से मानव जाति की अच्छाई और बुराई दोनों जाहिर हुई हैं। एक तरफ, हम ने विश्व की एकता देखी है, साथ ही लांछन, फेक न्यूज और महामारी का राजनीतिकरण दिखाया जाता है।

टेड्रोस ने जोर देते हुए कहा कि आगामी कई महीनों में सभी देशों को वायरस के साथ सहअस्तित्व रहने की समस्या का सामना करना पड़ेगा। यह एक नयी सामान्य स्थिति रहेगी। हालांकि अनेक देशों ने प्रगतियां हासिल कीं, फिर भी विश्व स्तर पर महामारी का फैलाव हो रहा है और यह खत्म होती नजर नहीं आयी है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प द्वारा कोविड-19 को कुंगफू वायरस बताने के प्रति डब्ल्यूएचओ हेल्थ इमरजेंसी प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक माइकल रयान ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए। बुरे अर्थ होने वाले शब्दों का इस्तेमाल करने के बजाय डब्ल्यूएचओ सभी देशों के लोगों को उचित भाषा का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

(श्याओयांग)

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories