एक बार फिर कोरोना वायरस के स्रोत को पता लगाना, कुछ देशों में महामारी का समय अग्रिम किया गया

2020-06-28 19:25:40
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन के हांगकांग में ताकोंग अख़बार ने 28 जून को रिपोर्ट जारी कर कहा कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस निमोनिया का अनुसंधान लगातार गहरा हो रहा है, इसके चलते कुछ देशों में महामारी पैदा होने का समय बदला गया, संक्रमित मरीजों या महामारी के स्थानीय फैलाव का समय संभवतः बड़े हद तक अग्रिम किया गया।

15 मई को जापानी स्वास्थ्य विभाग और सामाजिक गारंटी मंत्री काटो कात्सुनोबु ने कहा कि जापानी रेडक्रोस सोसाइटी ने पिछले वर्ष की शुरुआत में 500 रक्त नमूने में दो पॉजिटिव कोरोना वायरस का पता लगाया, मतलब है कि संक्रमण का अनुपात 0.4 प्रतिशत है। 

वहीं, स्पेन के वाइरसविज्ञानी ने 26 जून को मार्च 2019 में अपशिष्ट जल के नमूने में कोरोना वायरस प्राप्त किया, जो चीन द्वारा रिपोर्ट की गई पहले कोविड-19 मरीज की तुलना में 9 महीने पहला था। शुरु में शोधकर्ताओं ने इस वर्ष 15 जनवरी में संग्रहित बार्सिलोना अपशिष्ट जल में वायरस का पता लगाया था, फिर जनवरी 2018 से दिसम्बर 2019 तक के संग्रहित नमूने की जांच की गई, इसी दौरान 12 मार्च 2019 के नमूने में वायरस जीनोम पता लगाया गया।

उधर, अमेरिकी न्यू जर्सी स्टेट के एसेक्स काउंटी में बेल्लविल्ल शहर के मेयर माइकल मेलहम ने मई की शुरुआत में कहा कि उन्होंने अप्रैल के अंत में कोरोना वायरस की जांच की, परिणाम पॉजिटिव था। उन्हें विश्वास है कि गत वर्ष नवम्बर में उन्हें संक्रमित हुआ। उस समय डॉक्टर ने निदान किया कि वे फ्लू से संक्रमित हुए हैं। मेलहम ने फ्लू से संबंधित जांच नहीं की और विदेश यात्रा भी नहीं की। अमेरिकी कैलिफोर्निया स्टेट में सांता क्लारा शहर ने अप्रैल के अंत में सार्वजनिक की गई जांच रिपोर्ट के मुताबिक, इस वर्ष 6 फरवरी को ही स्थानीय वासी कोविड-19 से मर चुका था। जाहिर है कि कोरोना वायरस इससे और समय पूर्व कैलिफोर्निया में फैल रहा था।

फ्रांसीसी कोल्मर शहर के अल्बर्ट श्विट्ज़र अस्पताल ने 7 मई को विज्ञप्ति जारी कर कहा कि अस्पताल ने गत वर्ष 1 नवम्बर से इस वर्ष 30 अप्रैल तक पूरे अस्पताल में की गई 2456 एक्स-रे की पुनः जांच की। परिणामस्वरूप अस्पताल में कुछ मरीज संभवतः 16 नवम्बर 2019 को ही वायरस से संक्रमित हो चुके थे। फ्रांसीसी स्वास्थ्य मंत्रालय ने 24 जनवरी को कोविड-19 से संक्रमित 3 मरीजों की पुष्टि की, यह यूरोप में कोरोना वायरस निमोनिया से संबंधित पहली रिपोर्ट है। 

बता दें कि कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बाद अधिकाधिक वैज्ञानिक वायरस के स्रोत को पता लगाने के कार्य में संलग्न हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के समन्वय के तहत, विभिन्न देशों के पास हाथ मिलाकर वायरस स्रोत खोजने का उत्तरदायित्व है। हालांकि वायरस के स्रोत का पता लगाना बहुत कठिन है, और अभी निष्कर्ष निकालना जल्दबाजी है। लेकिन कदम-ब-कदम सार्वजनिक की गई वायरस से संबंधित नवीनतम सूचना पर विभिन्न देशों को ध्यान देना चाहिए, इस पर विचार करना चाहिए और पूर्ण सहयोग करना चाहिए।

(श्याओ थांग)

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories