विश्व स्वास्थ्य महासभा में राष्ट्रपति शी के भाषण का उच्च मूल्यांकन

2020-05-20 16:45:24
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई विश्व स्वास्थ्य महासभा की 73वीं सालाना मीटिंग के उद्घाटन समारोह में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने "एकता और सहयोग से महामारी को पराजित करें और मानव स्वास्थ्य समुदाय का सह-निर्माण करें" शीर्षक भाषण दिया। अनेक देशों के सूत्रों का मानना है कि महासभा में शी द्वारा प्रस्तुत छह सूत्रीय सुझाव से अंतर्राष्ट्रीय महामारी-रोधी सहयोग में चीन का जिम्मेदारना रुख जाहिर हुआ।

लाओस के चिकित्सा मंत्री बोंगकोंग स्हेवोंग ने कहा कि राष्ट्रपति शी का व्याख्यान प्रेरणादायक है। चीन ने महामारी की रोकथाम में उल्लेखनीय प्रगतियां हासिल की हैं और चीन ने वैश्विक महामारी रोकथाम के लिए सहायता प्रदान की है।

उधर, मिस्र के विदेश मंत्रालय के एशियाई मामलात सहायक हैनी सेलिम ने कहा कि चीन द्वारा विश्व जनता को प्रदान की गयी मदद से मानव के समान भाग्य वाले समुदाय का वर्णन किया गया है। चीन ने जो काम किया है, वह जिम्मेदारना देश द्वारा ही किया जाता है। सऊदी अरब के राजनीतिक विद्वान, चीन स्थित पूर्व राजनयिक सालेह सगरी ने कहा कि शी के भाषण में चीन का जिम्मेदारना रुख जाहिर हुआ है। चीन अफ्रीकी देशों का समर्थन करेगा और जी20 देशों के साथ-साथ महामारी से ग्रस्त मुश्किल देशों को अधिक समर्थन देगा जिससे इन देशों में महामारी के बाद आर्थिक बहाली के लिए मददगार है।

ऑस्ट्रेलिया एशिया-प्रशांत समाचार नेटवर्क के मार्कस रेयोबेंसटेन ने कहा कि सामग्री आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करने से महामारी के खिलाफ वैश्विक संघर्ष के लिए महत्वपूर्ण है। इस संदर्भ में चीन ने उल्लेखनीय काम किये हैं। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को भी साथ देना चाहिये और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में प्रभावी आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करने के लिए वैश्विक सहयोग करना चाहिये।

ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के चाइना सेंटर के प्रधान राना मित्तर ने कहा कि मानव स्वास्थ्य समुदाय का निर्माण करना एक बहुत ही महत्वपूर्ण विचार है। हमें यह महसूस होना चाहिये कि महामारी की संकट का समाधान किसी एक देश पर निर्भर नहीं हो सकता है। इसमें सभी देशों के वैज्ञानिकों, विद्वानों और विभिन्न देशों की सरकारों की भागीदारी होनी चाहिये।

थाइलैंड के चूलालोंगकोर्न विश्वविद्यालय के प्रोफेसर बियेटी ने कहा कि चीन नये कोरोना वायरस टीका विकसित करने के बाद इसे वैश्विक सार्वजनिक उत्पादन वस्तु के रूप में उपयोग करेगा, जिससे महामारी से ग्रस्त लोगों को मदद मिलेगी। चीन ने महामारी से लड़ने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन कर एक बड़े देश की जिम्मेदारी दिखायी है।

( हूमिन )

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories