विश्व स्वास्थ्य महासभा में ताइवान की भागीदारी पर विचार-विमर्श नहीं

2020-05-20 16:44:04
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी राज्य परिषद के ताइवान मामलात कार्यालय के प्रधान मा श्याओक्वांग

चीनी राज्य परिषद के ताइवान मामलात कार्यालय के प्रधान मा श्याओक्वांग

18 मई को जिनेवा में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई विश्व स्वास्थ्य महासभा की 73वीं सालाना सभा में महासभा के अध्यक्ष ने कहा कि ताइवान की भागीदारी पर विचार-विमर्श नहीं किया जाएगा। इस बात को लेकर चीनी राज्य परिषद के ताइवान मामलात कार्यालय के प्रधान मा श्याओक्वांग ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य महासभा में ताइवान से संबंधित मुद्दों के बारे में प्रचार लोकप्रिय नहीं है। एक चीन का सिद्धांत अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की सहमति के अनुकूल है।

ताइवान को चीन का अभिन्न अंग होने की हैसियत से विश्व स्वास्थ्य महासभा में भाग लेने का अधिकार नहीं है। यहां तक कि अमेरिका के समर्थन से इस सिद्धांत को हिलाया नहीं जा सकता है। चीनी विदेश मंत्रालय और ताइवान मामलात कार्यालय ने अनेक बार दोहराया कि मुख्य भूमि ताइवानी देशबंधुओं के हितों का अच्छा से ध्यान रखती है और वैश्विक चिकित्सा मामलों में ताइवानी भागीदारी का सुव्यवस्थित प्रबंध किया गया है। उधर, ताइवानी अधिकारियों ने महामारी रोकने का लाभ उठाकर स्वाधीनता के लिए कोशिश की है।

विश्व स्वास्थ्य महासभा आयोजित

विश्व स्वास्थ्य महासभा आयोजित

इस साल विश्व स्वास्थ्य महसभा की सालाना मीटिंग केवल दो दिनों तक चली। इस अल्प समय में महामारी की रोकथाम पर विचार-विमर्श किया जाना चाहिये। लेकिन ताइवानी अधिकारियों ने इस वक्त पर ताइवानी स्वाधीनता के मुद्दे का प्रचार किया और एक पेशेवर व तकनीकी अंतरराष्ट्रीय संगठन में राजनीति करने का प्रयास किया जिसका अंतरराष्ट्रीय समुदाय में व्यापक विरोध जताया गया।

( हूमिन )

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories