ब्रिटिश कम्युनिस्ट पार्टी की उपाध्यक्षः महामारी से लड़ने में चीन ने एक वैश्वक मॉडल स्थापित किया

2020-04-12 17:14:57
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

ब्रिटिश कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) की उपाध्यक्ष ज्योति बरार ने हाल ही में कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिए चीन ने अपने खुद के प्रयासों से विश्व पर एक मॉडल स्थापित किया है। उन्होंने जोर दिया कि वुहान की "अनब्लॉकिंग" न केवल एक असाधारण उपलब्धि है, बल्कि इसके पीछे बड़ा प्रयास भी छिपा है।

हाल ही में वुहान ने बाहर निकलने के सभी चैनलों पर लगे प्रतिबंध हटा दिये हैं। बरार ने सीएमजी के संवाददाता के साक्षात्कार में कहा कि महामारी से लड़ने के चीन के प्रयासों ने एक वैश्वक मॉडल स्थापित किया है। बरार ने बताया कि चीनी चिकित्सा कर्मियों ने महामारी के विरोध व नियंत्रण पर बहुत अहम प्रयास किये हैं और इसके तहत असाधारण उपलब्धियां हासिल की हैं।

वर्तमान में ब्रिटेन में महामारी से लड़ने की स्थिति भी बहुत गंभीर है। बरार ने कहा कि चीन ने दुनिया के सभी देशों के लिये महामारी की रोकथाम पर कीमती समय जीता है, लेकिन ब्रिटिश सरकार उसे पकड़ नहीं पाई। और महामारी से लड़ने की नीतिगत ताकत पर्याप्त नहीं है।

बरार के मुताबिक,फ्रंट-लाइन चिकित्सा कर्मियों के लिये सुरक्षात्मक उपकरणों की कमी ने ब्रिटेन में वायरस के आगे प्रसार को भी बढ़ावा दिया।

ब्रिटेन की महामारी से बचाव के उपायों में सुधार और समायोजन करने की बात करते हुए बरार ने कहा कि ब्रिटेन चीन से दो महत्वपूर्ण अनुभवों से सीख सकते हैं। पहला, मरीज़ के परीक्षण पर अधिक ध्यान दें । दूसरा, मरीज़ों के निकट संपर्कों को बारीकी से ट्रैक करने और उन्हें अलग करने के कदम उठाएं। 

साक्षात्कार समाप्त होने से पहले, बरार ने विशेष रूप से कुछ ब्रिटिश राजनेताओं को वायरस व महामारी के मुद्दे पर चीन के खिलाफ बदनामी फैलाने की कार्रवाई रोकने की अपील की।

अंजली

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories