​165 पूर्व राजनीतिज्ञौं और विद्वानों ने जी20 से महामारी के मुकाबले में समन्वय कार्रवाई अपनाने की अपील की

2020-04-11 17:58:46
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

हाल ही में ब्रिटिश पूर्व प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउनने विश्व में 165 पूर्व राजनीतिज्ञों और विद्वानों के साथ संयुक्त रूप से“जी-20 सदस्यों को पहल पत्र”प्रकाशितकिया, जिसमें पहल पेश कीगईकि आने वाले दिनों में अंतरराष्ट्रीय समन्वय कार्रवाई अपनाई जाएगी, ताकि कोरोनावायरस निमोनिया के फैलाव से विश्व सार्वजनिक स्वास्थ्य सुरक्षा और वैश्विक आर्थिक स्थिति पर पड़े संकट का मुकाबला किया जा सके।

इस पहल में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा महामारी के मुकाबले में नेतृत्वकाली भूमिका निभाकर वैश्विक आर्थिक बहाली के लिए अपनाए गए आपातकालीन कदमों का समर्थन किया गया। इस पहल में इस बात पर जोर दिया गया है कि वर्तमानमेंमौजूदसभी मुश्किलेंआपस में जोड़ी जाती हैं, इस तरहसंकट के समाधान के लिए समन्वयकी जरूरत है: "इस समय, यदि सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थितियों को प्रभावी ढंग से नियंत्रित नहीं किया जाता है, तो आर्थिक आपात स्थिति नहीं हटाई जाएगी। एकदेश मेंमहामारीपर काबू पाने के साथ वह खत्म नहीं होगा।जब सभी देश कोरोनावायरस निमोनिया के खतरे से बाहर निकल जाएंगे, तो इस वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति के अंत की घोषणा की जा सकेगी।

इस पहल में जी-20 कार्यान्वयन विशेष कार्य दल के नेतृत्व में एक वैश्विक दान सम्मेलन आयोजित करने का आह्वान किया गया है,ताकि वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकालीन आवश्यकताओं के लिए संसाधन उपलब्ध कराया जा सके।

इस पहल में कहा गया कि मौजूदा वैश्विक आर्थिक संकटों के लिए वैश्विक आर्थिक प्रतिक्रिया की आवश्यकता है।वैश्विक आर्थिक मंदी से बचने के लिए राजकोषीय, मौद्रिक, केंद्रीय बैंक और संरक्षणवाद विरोधीकदमोंके बेहतर समन्वय की जरूरत है।

गौरतलब है कि इस पहल को 21वीं सदी की परिषद द्वारा शुरू किया गया था। मैक्सिकों के पूर्व राष्ट्रपति एर्नेस्टोजेडिलो पोंसेडी लियोन, इटली के पूर्व प्रधानमंत्री मारियो मोंटी, कनाडा के पूर्व प्रधानमंत्री पॉल जोसेफ जेम्स मार्टिन, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शौकत अजीज, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री केविन माइकल रुड,चीनी विज्ञान अकादमी के राष्ट्रीय नवाचार और विकास रणनीति अनुसंधान संस्थान के उप प्रधान, आईएमएफ के पूर्व उपाध्यक्ष चू मिन आदि 21वीं सदी की परिषद के सदस्यों, पूर्व संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून और विश्व बैंक के वरिष्ठ अर्थशास्त्री लीन ईफडू आदि पूर्व राजनीतिज्ञों, विद्वानों और विशेषज्ञों ने संयुक्त रूप से पहल कोनामांकित किया।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories