​वुहान के साथ वायरस को संबद्ध करवाने के प्रति ब्रिटिश पत्रिका नेचर ने माफी मांगी

2020-04-11 17:24:05
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

विश्व के मशहूर वैज्ञानिक पत्रिका नेचर ने वुहान के साथ वायरस को जोड़ने पर तीन बार माफी मांगी।

इस पत्रिका ने 7 अप्रैल को अपने ब्रिटिश वेबसाइट, 8 अप्रैल को अपने सोशल एकाउंट्स पर और 9 अप्रैल को वीचैट पर चीनी अनुवाद में यह मांफी पत्र प्रकाशित किया।

"नए कोरोनोवायरस के प्रयोग से दूसरों को बदनामी रोकें" शीर्षक लेख में कहा गया है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने फरवरी में नये कोरोना वायरस को “COVID-19” नामित करते हुए इस वायरस को चीन या वुहान शहर के साथ न जोड़ने को कहा। हम अपनी गलती पर माफी मांगते हैं।

जब विश्व भर में नये कोरोना वायरस का फैलाव होता रहा है तब नस्लवाद और भेदभाव की आवाज़ भी बुलंद होने लगी है। लेकिन इसी के साथ साथ नये कोरोनावायरस को राजनीतिकरण और इस से दूसरों को बदनाम करने का विरोध करने की शक्ति भी बढ़ती जा रही है। नेचर ने अपने लेख में यह चिन्ता जतायी कि वैश्विकरण की स्थिति में सब लोग दूसरों के साथ जुड़े हुए हैं। अगर भेदभाव और पूर्वाग्रह को रोका नहीं जाए, तो मानव के सामने दुश्मन केवल नये कोरोनावायरस नहीं होगा।

अमेरिकी वेबसाइट राष्ट्रीय समीक्षा ने 9 अप्रैल को नेचर के लेख का हवाले से कहा कि किसी वायरस को एक जगह के साथ जोड़ना गैर-जिम्मेदाराना है, इसे तुरंत रोकने की जरूरत है। रूसी सैटेलाइट न्यूज एजेंसी ने भी कहा कि अगर बदनामी से एशियाई छात्रों को अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों में से निकाला जाएगा, तो वह वैज्ञानिक अनुसंधान पर निर्भर रहने वाली दुनिया के लिए त्रासदी होगा। अमेरिकन एंटी-डिफेमेशन लीग समेत 258 संगठनों ने भी संयुक्त रूप से अमेरिकी संसद के दोनों सदनों के नेताओं को पत्र भेजकर नस्लवाद, ज़ेनोफ़ोबिया और गलत सूचना को रोकने की अपील की।

नये कोरोनावायरस की धमकी में हरेक आदमी को खतरे का मुकाबला करना पड़ेगा। और पूर्वाग्रह, भेदभाव और नस्लवाद के खतरे के तहत कोई भी शिकार बन सकता है। इस सवाल की चर्चा करते हुए चीनी विदेश प्रवक्ता चाओ ली चैन ने 9 अप्रैल को प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि किसी भी देश की सरकार को लोगों के जीवन और स्वास्थ्य के अधिकार को प्राथमिकता देनी चाहिये। दूसरों पर दोष लगाने से वायरस से छुटकारा नहीं मिल सकेगा।

( हूमिन )


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories