चीन मानव के साझे भाग्य समुदाय की विचारधारा अपनाते हुए महामारी-रोधी अंतरराष्ट्रीय सहयोग में भाग लेगा

2020-04-10 16:23:48
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद और संयुक्त राष्ट्र मामवाधिकार उच्चायुक्त वेरोनिका मिशेल बैचेलेट जेरिया ने 9 अप्रैल को कोरोनावायरस निमोनिया से मानवाधिकार पर प्रभाव वाले मुद्दे को लेकर अनौपचारिक वीडियो सम्मेलन आयोजित की। संयुक्त राष्ट्र जिनेवा के कार्यालय में और स्विट्जरलैंड में अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों में स्थिति चीनी प्रतिनिधि छन श्वी ने सम्मेलन में महामारी-रोधी अंतरराष्ट्रीय सहयोग में चीन की सक्रिय भागीदारी स्थिति से अवगत कराया और कहा कि चीन अंतरारष्ट्रीय स्वास्थ्य सहयोग को लगातार आगे बढ़ाएगा, अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कार्य के लिए महत्वपूर्ण योगदान देगा।

छन श्वी ने कह कि चीन मानव जाति के साझे भाग्य समुदाय वाली विचारधारा अपनाते हुए महामारी के मुकाबले में अंतरराष्ट्रीय सहयोग में सक्रियता के साथ भाग लेता है। चीनी राष्ट्रपित शी चिनफिंग ने कोविड-19 के खिलाफ़ जी 20 के शिखर सम्मेलन में महत्वपूर्ण भाषण दिया, उन्होंने 20 से अधिक देशों के शासनाध्यक्षों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रधानों के साथ फोन पर बात की और कहा कि चीन विभिन्न पक्षों के साथ मिलकर महामारी के मुकाबले की ज्ञान और अनुभव साझा करना चाहता है, जरूरत पड़ने वाले देशों को यथासंभव समर्थन और सहायता देना चाहता है।

छन श्वी ने यह भी कहा कि चीन ने 130 से अधिक देशों और संगठनों को सहायता देने का वायदा किया और इसके कार्यान्वयन को सक्रिय रूप से आगे बढ़ा रहा है। अब तक चीन द्वारा कुल 11 देशों में 13 खेपों वाले चिकित्सा दल भेजे जा चुके हैं। इसके साथ ही चीन ने 150 देशों, आसियान, अफ्रीकी संघ, यूरोपीय संघ, कैरेबियन समुदाय और शांगहाई सहयोग संगठन आदि अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ चिकित्सा विशेषज्ञों की भागीदारी वाले 70 से अधिक वीडिया सम्मेलनों का आयोजन किया। इसके साथ ही चीन ने अपने देश में संबंधित देशों के चिकित्सा सामग्रियों की खरीददारी को सुविधा दी। चीन वास्तविक कार्रवाई से अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य सहयोग को मजबूत कर रहा है, यह अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कार्य के लिए अहम योगदान भी है।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories