डब्ल्यूएचओ:दुनिया भर में 59 लाख नर्सों की कमी

2020-04-08 15:41:29
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौके पर चिकित्सा कर्मियों के प्रति उच्च समादर दिखाने के लिए 2020 वैश्विक नर्सिंग स्थिति रिपोर्ट जारी की। इसमें कहा गया है कि मौजूदा समय में दुनिया में 59 लाख नर्सों का अभाव है। डब्ल्यूएचओ ने विभिन्न देशों से और अधिक पेशेवर चिकित्सा कर्मियों को प्रशिक्षित करने की फौरी अपील की।

वैश्विक नर्सिंग स्थिति रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान में दुनिया भर में कुल नर्सों की संख्या लगभग 2.8 करोड़ रही है, जो वैश्विक चिकित्सा सेवा की मांग को पूरा नहीं किया जा सकता है और 59 लाख नर्सों की कमी है। उधर, पेशेवर नर्सिंग स्टाफ की बढ़ती उम्र की समस्या भी लगातार गंभीर हो रही है। पूरी दुनिया में एक छठा स्टाफ दस सालों में सेवानिवृत्त होंगे। रिपोर्ट के अनुसार चिकित्सा कर्मियों की कमी वाले देशों को प्रत्येक वर्ष औसतन 8 प्रतिशत अधिक चिकित्सा कर्मियों को प्रशिक्षित करना चाहिए।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चिकित्सा कर्मियों का वितरण दुनिया भर में बहुत असमान है। दुनिया में कुल 80 प्रतिशत नर्स दुनिया के 50 प्रतिशत लोगों की सेवा करते हैं। और अफ्रिका, दक्षिण एशिया, लैटिन अमेरिका और पूर्वी भूमध्य के कुछ अविकसित क्षेत्रों में नर्सों की विशेष कमी है। कुछ विकसित देशों की भी ऐसी ही समस्या है।

2019 के एक सर्वेक्षण से पता चला कि 70% से अधिक ब्रिटिश लोगों का मानना है कि अस्पतालों में नर्स अपर्याप्त हैं। अमेरिका की "बेबी बूम" पीढ़ी के बूढ़ा होने के साथ-साथ चिकित्सा कर्मियों की कमी कुछ स्टेटों में विशेष रूप से स्पष्ट है। जापान में चिकित्सा कर्मियों की कमी कई वर्षों से चल रही है।

(मीनू)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories