जलवायु परिवर्तन के निपटारे के लिए फौरन ही व्यावहारिक कदम उठाना चाहिएः चीन

2019-12-03 10:05:07
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/2

वर्ष 2019 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन महासभा 2 दिसंबर को स्पेन की राजधानी मेड्रिड में उद्घाटित हुई ।पेरिस समझौते के कार्यांवयन की ठोस नियमावलियों में अनसुलझे मुद्दों पर वार्ता पूरी करना इस महासभा का मुख्य विषय है। चीनी प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि वर्तमान में विभिन्न पक्षों को जलवायु परिवर्तन के निपटारे के लिए फौरन ही व्यावहारिक कदम उठाना चाहिए।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने उद्घाटन समारोह में भाषण देते समय कहा कि जलवायु परिवर्तन से निपटाने के लिए अब नाज़ुक समय आ गया है। उन्होंने विश्व जलवायु संगठन के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि वायु में ग्रीन गैस का अनुपात नये रिकार्ड पर जा पहुंचा है ।पिछले पाँच साल इतिहास में सबसे ज्यादा गर्मी पड़ी थी। बर्फ़ की परत पिघल रही है ।समुद्री स्तर बढ़ने की गति प्रतीक्षा से तेज़ हो रही है ।उन्होंने विभिन्न पक्षों से मतभेद दूर कर समानताएं बनाने की अपील की।

इस महासभा में भाग ले रहे चीनी प्रतिनिधि मंडल के उप महासचिव लू शिन मिन ने बताया कि चीन पेरिस समझौते के कार्यांवयन की ठोस नियमावलियों की वार्ता पूरा करने को बढ़ाएगा ।इस के साथ ही चीन की आशा है कि पूंजी के मुद्दे पर सकारात्मक प्रगति होगी और वर्ष 2020 के पहले किये गये वायदों की समीक्षा की जाएगी।

(वेइतुंग)

शेयर