डब्यूटीओ सुधार का केंद्रीय मामला संघर्ष हल व्यवस्था का पक्षाघात है

2019-06-30 16:08:30
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी विदेश मंत्रालय के जी-20 मामलों के विशेष दूत, अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक विभाग के प्रधान वांग श्याओलुंग ने 29 जून को ओसाका में स्थित चीनी प्रतिनिधि मंडल के न्यूज़ केंद्र में एक संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया। विश्व व्यापार संगठन के सुधार से जुड़े सवालों का जवाब देते समय वांग श्याओलुंग ने कहा कि डब्यूटीओ के सुधार पर जी-20 के सदस्यों ने आम सहमति बनाई।

उनके अनुसार गत वर्ष आयोजित ब्यूनस आयर्स शिखर सम्मेलन में विश्व व्यापार संगठन में आवश्यक सुधार करने का समर्थन एक साथ देने की महत्वपूर्ण सहमति बनाई गयी। इस वर्ष के ओसाका शिखर सम्मेलन में इस सहमति को एक बार फिर दोहराया गया। विश्व व्यापार संगठन के सुधार की पूर्व शर्त यह है कि सभी सदस्य डब्यूटीओ से केंद्रित बहुपक्षीय व्यापारिक व्यवस्था का समर्थन देते हैं।

वांग के अनुसार विश्व व्यापार संगठन के तीन मुख्य काम हैं:वार्ता, निगरानी और संघर्ष का हल। आशा है कि सुधार से इन तीन कामों को मज़बूती मिलेगी। ताकि विश्व व्यापार संगठन अपना कर्तव्य अच्छी तरह से निभा सके। पर डब्यूटीओ और जी-20 के अधिकतर सदस्यों के विचार में सबसे पहले संघर्ष हल व्यवस्था के पक्षाघात मामले का समाधान करना चाहिये। इस मामले पर जी-20 के अधिकतर सदस्यों ने एकमत होकर सहमति बनाई।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories