अफगानिस्तान आज की तरह शांति के इतने करीब कभी नहीं रहा

2019-05-21 10:30:25
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 20 मई को दुशांबे में ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमली राख़मोनोव के साथ मुलाकात की। मुलाकात के बाद वांग यी ने संवाददाताओं से कहा कि चीन और ताजिकिस्तान दोनों अफगानिस्तान के पड़ोसी देश हैं। दोनों देशों ने अफगानिस्तान में सुलह और पुनर्निर्माण पर रुख़ में ताल-मेल किया।

वांग यी ने कहा कि कई सालों के युद्ध के बाद अफगानिस्तान में अंततः शांति स्थापित करने की संभावना होगी। हालांकि अनिश्चितता फिर भी मौजूद है, लेकिन अफगान लोग आज की तरह शांति के इतने करीब कभी नहीं रहे। हम अफगानिस्तान के विभिन्न दलों से देश और जनता के हितों को प्राथमिकता देते हुए सहिष्णुतापूर्ण वार्ता के ज़रिए व्यापक सहमति हासिल करने की अपील करते हैं। हम आशा करते हैं कि अमेरिका और तालिबान के बीच वार्ता में राजनीतिक प्रक्रिया के लिए लाभदायक समझौता संपन्न किया जाएगा और अफगान सवाल से जुड़ी अन्य बहुपक्षीय व्यवस्थाएं भी सक्रिय भूमिका निभाएंगी।

वांग यी ने कहा कि चीन अफगानिस्तान का पड़ोसी देश है। चीन अफगान लोगों का सम्मान करता है और अफगानिस्तान के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं करता। चीन अफगानिस्तान की शांति में रचनात्मक भूमिका निभाना चाहता है और अफगानिस्तान में पुनर्निर्माण के लिए योगदान करना चाहता है।

(ललिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories