अमेरिका-उत्तर कोरिया संयुक्त वक्तव्य में प्रायद्वीप परमाणु मुक्त होने का लक्ष्य निश्चित

2018-06-13 14:09:39
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 12 जून को सिंगापुर में एक संयुक्त वक्तव्य पर हस्ताक्षर किये। इसके साथ ही इतिहास का नया अध्याय लिखा गया।

ट्रम्प ने हस्ताक्षर स्थल पर मीडिया को वक्तव्य के दस्तावेज़ दिखाये और कहा कि दोनों पक्ष नये ढ़ंग के संबंधों का निर्माण करेंगे। अमेरिका उत्तर कोरिया के लिए सुरक्षा गारंटी प्रदान करेगा। किम जोंग-उन ने कोरिया प्रायद्वीप को पूर्ण रूप से  परमाणु मुक्त होने का वचन दोहराया। इस शिखर वार्ता के परीणाम का कार्यांवयन करने के लिए उत्तर कोरिया और अमेरिका के वरिष्ठ वार्ताकारों के बीच और बैठक बुलायी जाएगी।  

किम जोंग-उन ने कहा कि उत्तर कोरिया और अमेरिका अतीत को त्याग देकर नये शुरुआत का स्वागत करेंगे। उधर ट्रम्प ने कहा कि संयुक्त वक्तव्य में व्यापक विषय शामिल हैं और अमेरिका व उत्तर कोरिया के बीच संबंधों का नया अध्याय आगे भी जारी रहेगा। उन्होंने यह भी कहा कि प्रायद्वीप का परमाणु मुक्त कार्यक्रम दीर्घकालीन होगा। इस सवाल का समाधान होने से पहले अमेरिका उत्तर कोरिया के खिलाफ प्रतिबंध जारी रखेगा।

चीन के स्टेट कौंसुलर व विदेश मंत्री वांग यी ने 12 जून को कहा कि उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच आधी शताब्दी से शत्रुता बनी हुई है। आज दोनों देशों के नेताओं ने साथ साथ बैठकर वार्ता करनी शुरू की है। यह बहुत महत्वपूर्ण और अर्थवान है। आशा है कि दोनों पक्षों के नेता प्रायद्वीप का परमाणु मुक्त लक्ष्य साकार करने और शांति कार्यक्रम की स्थापना को बढ़ाने में वास्तविक कदम उठाएंगे।

 ( हूमिन )   

शेयर