चौथी चीन-जापान आर्थिक उच्च स्तरीय वार्ता आयोजित

2018-04-16 17:32:57
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
2/2

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 16 अप्रैल को तोक्यो में जापानी विदेश मंत्री कोउनो तारोउ के साथ संयुक्त रूप से चौथी चीन-जापान आर्थिक उच्च स्तरीय वार्ता की अध्यक्षता की।

वांग यी ने कहा कि चीन-जापान संबंध में सुधार आने की पृष्ठभूमि में यह वार्ता 8 वर्षों के बाद एक बार फिर बहाल हुई। वर्तमान में दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग नई ऐतिहासिक स्थिति और समग्र वातावरण में नई शुरुआत पर स्थित है। दोनों पक्षों को रणनीतिक और वास्तविक स्तर पर संपर्क करना चाहिए, ताकि आपसी समझ और विश्वास बढ़ाकर समन्वय और सहयोग को आगे बढ़ाया जा सके।

वांग यी ने यह भी कहा कि इस वर्ष चीन में सुधार और खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ है। नई परिस्थिति में चीन ने नए युग में सुधार और खुलेपन का नया रास्ता शुरु किया। हम अधिक उच्च गुणवत्ता वाले विकास की खोज करते हैं, खुलेपन का और विस्तार करते हुए वाणिज्य वातावरण में लगातार सुधार करेंगे। इसके साथ ही“बेल्ट एंड रोड”के निर्माण को गति देंगे। चीन-जापान आर्थिक व्यापारिक सहयोग में नया ऐतिहासिक मौका सामने आया है। दोनों पक्षों को सुधार हुई स्थिति को मूल्यवान समझते हुए चीन-जापान संबंध के राजनीतिक आधार को बनाए रखना चाहिए, आपसी लाभ और उभय जीत पर कायम रहते हुए समान विकास करना चाहिए। दोनों देशों के आर्थिक सहयोग की गुणवत्ता को उन्नत करना चाहिए। मुख्य तौर पर ऊर्जा किफायत पर्यावरण संरक्षण, वैज्ञानिक तकनीकी नवाचार, उच्च स्तरीय निर्माण, वित्त, शेयरिंग अर्थतंत्र और चिकित्सा व पेंशन आदि क्षेत्रों में सहयोग को अधिक महत्व दी जाए। पूर्व एशियाई क्षेत्र में आर्थिक एकीकरण प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए चीन-जापान-दक्षिण कोरिया मुक्त व्यापार क्षेत्र और क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी संबंध संधि की वार्ता में गति देनी चाहिए। ताकि एशिया-प्रशांत मुक्त व्यापार क्षेत्र की स्थापना शीघ्र ही की जा सके। चीन और जापान को व्यापार संरक्षणवाद का विरोध करते हुए बहु-पक्षीय व्यापार व्यवस्था की रक्षा करनी चाहिए। ताकि समान रूप से खुले विश्व अर्थतंत्र के निर्माण को आगे बढ़ाया जा सके। 

जापानी विदेश मंत्री कोउनो तारोउ ने कहा कि जापान-चीन आर्थिक सहयोग द्विपक्षीय संबंध का महत्वपूर्ण आधार और प्रेरित शक्ति है। इस वर्ष दोनों देशों के बीच शांतिपूर्ण और मित्रवत संधि पर हस्ताक्षर किए जाने की 40वी वर्षगांठ है। जापान-चीन संबंध के सामने व्यापक सुधार और स्थिर विकास का अवसर मौजूद है। दोनों देशों की और वैश्विक आर्थिक स्थिति में नए परिवर्तन के उन्मुख जापान चीन के साथ मिलकर नई दृष्टि से द्विपक्षीय आर्थिक व्यापारिक सहयोग का विस्तार करना चाहता है। बोआओ एशिया मंच के 2018 वार्षिक सम्मेलन में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने महत्वपूर्ण संकेत दिया, जापान इस पर महत्व देता है। संरक्षणवाद के विरुद्ध विश्व व्यापार संगठन को कोर बनाने वाली मुक्त व्यापार तंत्र की रक्षा की जानी चाहिए। विश्व व्यापार संगठन के नियम के अनुसार व्यापारिक मुद्दे का समाधान करना जरूरी है। 

 वार्ता सम्मेलन में चीनी और जापानी विदेश और वित्त विभागों के जिम्मेदार व्यक्तियों ने समग्र आर्थिक नीति, द्विपक्षीय आर्थिक सहयोग और आदान प्रदान, चीन-जापान त्रि-पक्षीय सहयोग, पूर्वी एशियाई आर्थिक एकीकरण और बहु-पक्षीय सहयोग आदि विषयों पर विचार विमर्श किया और सिलसिलेवार आम सहमतियां प्राप्त कीं।

(श्याओ थांग)

 

शेयर