यूएन महासचिवः फिलिस्तीन-इजराइल शांति को नुकसान पहुंचाने वाली किसी भी एक तरफा कार्यवाई का विरोध

2017-12-07 11:03:12
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/2
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतरेस ने भाषण देकर फिलिस्तीन-इजराइल शांति को नुकसान पहुंचाने वाली किसी भी एक तरफा कार्यवाई का विरोध करने की बात कही।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 6 दिसम्बर को येरुशलम को इजराइल की राजधानी घोषित किया। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतरेस ने  भाषण देकर फिलिस्तीन-इजराइल शांति को नुकसान पहुंचाने वाली किसी भी एक तरफा कार्यवाई का विरोध करने की बात कही।

गुतरेस ने कहा कि वे हमेशा ही इजराइल-फिलिस्तीन शांति को नुकसान पहुंचाने वाले किसी भी एक तरफा कदम का विरोध करते हैं। येरुशलम स्थान के अंतिम सवाल को फिलिस्तीन व इजराइल द्वारा प्रत्यक्ष सलाह मश्विरे के जरिए तय किया जाएगा। सलाह मश्विरे की प्रक्रिया को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और संयुक्त राष्ट्र महासभा के संबंधित प्रस्तावों के मुताबिक दोनों पक्षों की कानूनी अपील पर ध्यान देना जाना चाहिए। उन्होंने फिर एक बार स्पष्ट किया कि फिलिस्तीन-इजराइल समस्या में सिर्फ दो देशों का प्रस्ताव है, जबकि कोई अन्य प्रस्ताव नहीं है। जब तक फिलिस्तीन व इजराइल शांतिपूर्ण सहअस्तित्व से रहते हैं, एक दूसरे को मान्यता देते हैं, येरुशलम को दोनों देशों की राजधानी बनाकर वार्तालाप के जरिए येरुशलम के अंतिम स्थान का हल करते है। तब तक इन दो जातियों की कानूनी अभिलाषा को साकार किया जा सकता है। उन्होंने आशा जताई कि फिलिस्तीन और इजराइल शांति वार्ता के रास्ते में वापस लौट सकेंगे।

साथ ही गुतरेस ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव होने के नाते वे इजराइल और फिलिस्तीन के नेताओं के फिर एक बार वार्ता में वापस लौटने का समर्थन करने की हरसंभव कोशिश करेंगे, ताकि फिलिस्तीन-इजराइल में स्थायी शांति हो सके।

 (श्याओयांग)

शेयर