दूसरा टिकटॉक बनाने में भारतीय ऐप्स का रास्ता लंबा

2020-09-15 18:49:57
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

निहारिका जैन सिर्फ 23 साल की है, टिकटॉक पर उसके 28 लाख से अधिक प्रशंसक हो चुके हैं। टिकटॉक से वह हर महीने 30 हजार रुपये कमा सकती है। व्यापक भारतीय इंटरनेट सेलिब्रिटी को भी निहारिका की तरह टिकटॉक पर धन और प्रसिद्धि मिली। हालांकि भारत सरकार ने टिकटॉक पर बैन लगाया, लेकिन निहारिका ने इसकी शिकायत नहीं की। उसे लगता है कि टिकटॉक का इस्तेमाल नहीं कर पाते, तो वे लोग अन्य प्लेटफॉर्म के जरिए अपनी प्रतिभा दिखा सकते हैं।

शायद अधिकांश भारतीय लोग भी ऐसा सोचते हैं कि टिकटॉक के अलावा, अन्य बहुत सारे भारतीय ऐप्स भी उपलब्ध हैं। यह सच है कि टिकटॉक जैसे चीनी ऐप्स पर बैन लगाने के बाद भारत की छोटी-बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों ने अलग-अलग वीडियो ऐप्स लांच किये। वे टिकटॉक द्वारा छोड़े गये बाजार को साझा करना चाहती हैं।

हालांकि इन भारतीय ऐप्स को वित्तपोषण मिला है, लेकिन वे कितने लंबे समय तक आगे बढ़ सकते हैं, अब बोलना मुश्किल है। शायद कम समय में बहुत सारे डाउनलोड मिले, पर प्रतिधारण दर सुनिश्चित नहीं हो सकती। क्योंकि डाउनलोड सिर्फ पहला कदम है, उपयोगकर्ताओं को बनाए रखना और महत्वपूर्ण है।

अब हम देखते हैं, स्थिति इतनी आशाजनक नहीं है। डाउनलोड के एक हफ्ते बाद, यहां तक कि एक महीने बाद कितने उपयोगकर्ता फिर भी किसी ऐप का इस्तेमाल करते हैं? वीडियो एप्लिकेशन के लिए प्रतिधारण दर कम से कम 12 से 15 प्रतिशत तक कायम रहनी चाहिए, लेकिन भारतीय ऐप्स का प्रदर्शन इतना अच्छा नहीं है। चिंगारी वर्ष 2018 में लांच हुआ, जिसका उद्देश्य भारत का टिकटॉक बनना था। चीनी ऐप्स पर बैन लगाने के बाद इसका डाउनलोड काफी हद तक उन्नत हुआ, लेकिन सिर्फ एक महीने में इसकी प्रतिधारण दर 1 प्रतिशत तक गिरी। मतलब है कि उपयोगकर्ताओं ने डाउनलोड के 31 दिनों बाद कभी चिंगारी नहीं खोला। Moj, MX TakaTak और Josh जैसे ऐप्स की स्थिति भी मिलती-जुलती है।

दरअसल, दूसरा टिकटॉक बनाने के लिए निरंतर पूंजी लगानी पड़ती है, पर अधिकांश भारतीय कंपनियों के पास इतना ज्यादा पैसा नहीं होता। कम प्रतिधारण दर क्या फिर से निवेशकों को आकर्षित कर सकती है, यह बोलना मुश्किल है। इसके साथ कुछ भारतीय ऐप्स तकनीकी खराबी, सर्वर और डेटा की सुरक्षा आदि समस्याओं का सामना भी कर रहे हैं। इसलिए आने वाले समय में भारतीय वीडियो ऐप्स का क्या भविष्य होगा, हम एक साथ देखेंगे।

(ललिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories