श्रीलंका : चीनी राजदून ने ऑटो रिक्शा चालकों को मास्क और महामारी-विरोधी पोस्टर दान किये

2020-07-30 17:45:23
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

श्रीलंका में तीन पहिए वाले ऑटो रिक्शा को “टुक-टुक वाहन” भी कहा जाता है, जो स्थानीय लोगों का सबसे प्रमुख यातायात साधन है। 29 जुलाई की सुबह श्रीलंका में चीनी राजदूत ने श्रीलंका के तीन पहिए वाले ऑटो रिक्शा के चालक संघ और उनके सदस्य 5000 चालकों को मास्क और महामारी-रोधी पोस्टर दान किये।

चीनी राजदूत के अस्थायी प्रभारी हू वेई और श्रीलंकाई स्वास्थ्य मंत्रालय के स्वास्थ्य सेवा ब्यूरो के प्रमुख अनिल जयसिंघे ने इस प्रतिनिधि में भाग लिया। उन्होंने ऑटो रिक्शा पर चीनी राजदूत और श्रीलंकाई स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सह-निर्मित पोस्टर लगाये। इन पोस्टरों पर सिंहली और तमिल भाषाओं में महामारी-वरोधी जानकारियां लिखी हैं।

अनिल जयसिंघे ने धन्यवाद दिया कि चीन ने श्रीलंका को स्वच्छता और महामारी की रोकथाम का बड़ा समर्थन किया। ऑटो रिक्शा के चालक रोज़ाना लोगों से मिलते हैं। बचाव को मजबूत करने की काफी जरूरत हैं। इसके अलावा ऑटो रिक्शा श्रीलंका की सड़कों और गलियों पर भी चलते हैं। इन वाहनों पर महामारी-रोधी पोस्टर लगाने से संबंधित जानकारियां देश भर में प्रसारित हो सकेंगी। मौजूदा स्थिति में यह बात काफी महत्वपूर्ण है।

हू वेई ने कहा कि चीन और श्रीलंका एक-दुसरे के दुख-सुख में साथ-साथ रहने वाले सच्चे दोस्त हैं। महामारी में दोनों पक्ष आपसी समर्थन और मदद जारी रखते हैं। चीन इस कदम से श्रीलंका में महामारी की रोकथाम और नियंत्रण के विजय और लोगों के स्वास्थ्य के लिये प्रयास करना चाहता है।

श्रीलंका के तीन पहिए वाले ऑटो रिक्शा के चालक संघ के उप अध्यक्ष हामिद ने कहा कि यह न केवल चालकों की रक्षा कर सकेगी, बल्कि यात्रियों और आम लोगों की रक्षा कर सकेगी। स्थानीय चालकों ने चीन को हार्दिक धन्यवाद दिया।

(हैया)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories