भारत : इंडिगो एयरलाइंस में 10 प्रतिशत की छंटनी

2020-07-21 11:29:24
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया की मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भारत की एयरलाइन इंडिगो के सीईओ रोनोजॉय दत्ता ने 20 जुलाई को कहा कि कोविड-19 महामारी के कुप्रभाव से एयरलाइन के सामने बड़ा आर्थिक संकट आया है, जिसके चलते इंडिगो ने 10 प्रतिशत छंटनी करने का फैसला किया है।

रोनोजॉय दत्ता ने अपने बयान में कहा कि वर्तमान स्थिति के अनुसार कंपनी ने संचालन बहाल करने के लिये 10 प्रतिशत छंटनी करने का दुःखीपूर्ण फैसला करना पड़ा। यह इंडिगो के प्रति एक दर्दनाक विकल्प भी है।

ख़बर के अनुसार, इंडिगो में कुल 23000 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं। इसका मतलब यह है कि लगभग 2300 लोग कुछ समय के बाद इस कंपनी से चले जाएंगे। गौरतलब है कि इंडिगो भारत में सबसे लोकप्रिय कम लागत वाली एयरलाइन है। वर्ष 2019 के नवंबर तक भारत के घरेलू विमानन उद्योग में इस कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 47.5 प्रतिशत तक पहुंच गयी। इस वर्ष के मार्च में इंडिगो ने सभी उच्च स्तरीय कर्मचारियों के वेतन में 25 प्रतिशत कम किया है।

इस बार कोविड-19 महामारी के प्रकोप से भारत का विमानन उद्योग मंदी में फंसा हुआ है। अंतर्राष्ट्रीय विमानन परिवहन संघ (आईएटीए) ने कहा कि महामारी के कुप्रभाव से इस व्यवसाय में लगभग 30 लाख लोग बेरोजगार हो गये हैं।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories