भारत में टिक-टॉक पर पाबंदी लगने से भारतीय इंटरनेट सेलिब्रिटी सचमुच बहुत दुःखी हैं

2020-07-03 11:34:52
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/4

29 जून को भारतीय सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने विज्ञप्ति जारी कर संबंधित कानूनों व नयमों के हवाले से भारतीय प्रभुसत्ता व प्रादेशिक अखंडता, भारतीय रक्षा, राष्ट्रीय सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था को क्षति पहुंचाने के बहाने से चीन के 59 एप्स के भारत में इस्तेमाल पर पाबंदी लगायी, जिन में टिक-टॉक, वीचेट, ब्लॉग और यूसी न्यूज आदि शामिल हैं।

भारत के इस निर्णय के प्रति अनेक भारतीय इंटरनेट सेलिब्रिटी बहुत निराश हैं। 54 वर्षीय गीता श्रीधर उन में से एक हैं। गीता श्रीधर भारत के मुंबई में रहने वाली एक महिला है, जो अकसर टीक-टॉक पर व्यंजन बनाने के वीडियो का साझा करती हैं। उनके लाखों फेन्स हैं। इंटरनेट पर उनके लोकप्रिय होने के बाद अनेक व्यापारियों ने इन से संपर्क किया और उन्हें अपने वीडियो में उन के उत्पादों का प्रयोग करने को कहा। टीक-टॉक पर वीडियो बनाने से हर महीने गीता श्रीधर करीब 50 हजार रुपये कमा सकती हैं।

गीता श्रीधर की तरह भारत में अनेक ऐसे इंटरनेट सेलिब्रिटी हैं। टीक-टॉक न सिर्फ उन्हें नाम और आमदनी दिये, बल्कि उन्हें अपने का प्रदर्शन करने और रचना करने का प्लेटफार्म भी देता है। लेकिन अब उन का सपना खत्म हो गया।

गौरतलब है कि विश्व में टीक-टॉक का डाऊनलोड करीब 2 अरब हैं, जिन में 30 प्रतिशत भारतीय बाजार में होता है। इसलिए भारत ने भी विश्व में टीक-टॉक कंपनी का पहला बड़ा बाजार बना है।

इनस्टग्राम, फेसबुक और ट्विटर आदि प्लेटफार्मों की तुलना में टीक-टॉक का सिर्फ वीडियो है, इसलिए इतना जटिल नहीं रहा, जिसका प्रयोग बहुत आसान है। भारतीय ग्रामीण क्षेत्रों में टीक-टॉक और अधिक आकर्षक है।

(श्याओयांग)

 

शेयर