समयोचित हस्तक्षेप से महामारी के फैलाव को कम होगा- सीएसआईआर महानिदेशक

2020-06-03 12:45:53
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

भारतीय वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के महानिदेशक शेखर मांडे ने हाल में कहा कि कोरोना वायरस के मुकाबले में हर्ड इम्युनिटी (बड़े पैमाने पर रोग प्रतिरोध) पर निर्भर रहना किसी भी देश के लिए बड़ा जोखिम है, समयोचित हस्तक्षेप करने से कोविड-19 के फैलाव को कम किया जा सकेगा।

मांडे ने पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि आम तौर पर एक देश में 60 प्रतिशत से 70 प्रतिशत जनसंख्या के संक्रमित होने के बाद हर्ड इम्युनिटी प्रभावी होगी, यह किसी भी देश के लिए बड़ा जोखिम है। हमें ऐसा करना चाहिए कि संक्रमित होने के पूर्व हस्तक्षेप किया जाए, इस तरह तो संक्रमण का फैलाव नहीं होगा।

मांडे ने आगे कहा कि विभिन्न देशों और भारत ने कुछ सैद्धांतिक मॉडल स्थापित किए, जिससे जाहिर है कि कुछ चरणों में कोविड-19 महामारी की स्थिति पैदा होगी, लोगों को इसके मुकाबले के लिए अच्छी तैयारी करनी होगी। मरीजों की संख्या कम होगी, लेकिन नागरिकों को अच्छी तैयारी करनी चाहिए, वजह है कि दूसरे चरण की महामारी की स्थिति संभवतः सामने आएगी।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories