इंटरव्यू- चीन पर वैश्विक निर्भरता इतनी जल्दी नहीं होगी कम

2020-05-26 17:19:54
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन में आजकल साल के सबसे बड़े दो सत्र यानी टू-सेशन्स चल रहे हैं। जिनमें चीनी प्रतिनिधि आर्थिक,सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं। जो कि विश्व का ध्यान अपनी ओर खींच रहे हैं। जाहिर है, चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और कोविड-19 महामारी की पृष्ठभूमि में उसकी भूमिका पहले से ज्यादा अहम हो गयी है। चीन के ये दो सत्र वैश्विक लिहाज से क्या महत्व रखते हैं और इनका दुनिया पर क्या असर पड़ेगा ? कोरोना वायरस के कारण जारी मंदी के दौर में चीन क्या रोल अदा कर सकता है ?

इन सभी मुद्दों पर सीएमजी संवाददाता अनिल आज़ाद पांडेय ने बात की चीन-भारत मामलों के जानकार एस.के.कालरा के साथ। पेश हैं इंटरव्यू के मुख्य अंश--

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories