भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सेहत में सुधार, निगेटिव आयी कोरोना की जांच रिपोर्ट

2020-05-12 11:10:16
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

भारत की राजधानी नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में 10 मई के रात को भर्ती हुए भारतीय पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सेहत में सुधार हुआ है। साथ ही मनमोहन सिंह की कोरोना संक्रमण की जांच की गई थी जिसकी रिपोर्ट निगेटिवमिली है।एम्स की तरफ़ से 11 मई की रात को यह जानकारी मिली है।

सूत्रों ने बताया कि बेचैनी की शिकायत के बाद डॉ. मनमोहन सिंह को 10 मई की रात को एम्स लाया गया था। उनको बुखार है। बुखार के अन्य कारणों का पता लगाने के लिए उनकी जांच की जा रही है और आवश्यकतानुसार देखभाल की जा रही है।

सूत्रों के मुताबिक मनमोहन सिंह की सेहत कल यानी 11 मई को ‘बेहतर’ है और दिन के समय में उन्हें बुखार नहीं आया। सूत्रों ने बताया कि सिंह की कई तरह की जांच की गई है जिनमें से कई की रिपोर्ट का अभी इंतजार है। एक सूत्र ने कहा, "कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच के लिए नमूना लिया गया था और उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।" सूत्रों ने बताया कि सिंह को एक-दो दिन के भीतर अस्पताल से छुट्टी मिल सकती है।

इससे पहले एम्स सूत्रों ने 11 मई को बताया, "एक नयी दवा लेने के बाद रिएक्शन (फैब्राइल रिएक्शन) होने के कारण उन्हें भर्ती कराया गया था ताकि वह चिकित्सकों की निगरानी में रह सकें और उनकी जांच हो सके। बुखार के अन्य कारणों का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है और उनकी जरूरी देखभाल की जा रही है।" सूत्रों के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री की हालत स्थिर है और वह एम्स के कार्डियो-थोरैसिक सेंटर के चिकित्सकों की एक टीम की निगरानी में हैं।

आपको बता दें कि सीने में दर्द की शिकायत के बाद मनमोहन सिंह को 10 मई रात एम्स में भर्ती कराया गया है। एम्स में मनमोहन सिंह को कार्डियो थोरासिक वॉर्ड में रखा गया है। डॉक्टर उनकी हालत पर निगरानी रखे हुए हैं। उन के अस्वस्थ होने की खबर के बाद कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं ने उनके स्वस्थ होने की कामना की है।

अब 87 वर्षीय मनमोहन सिंह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं और वर्ष 2004 से 2014 तक,यानी कि 10 साल तक भारत के प्रधानमंत्री थे। पीएम बनने से पहले वित्त मंत्री के तौर पर उन्होंने अपना लोहा मनवाया था। वित्त मंत्री रहते हुए 90 के दशक में उन्होंने भारत में आर्थिक सुधारों को जिस तरह से लागू किया,उसके लिये उनका कार्यकाल आज भी भारतीय लोंगों के बीच याद किया जाता है। मनमोहन सिंह के अस्पताल में भर्ती होने की खबर मिलते ही कई नेताओं ने उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंता जतायी और जल्द ठीक होने की कामना की।

(रमेश)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories