भारत में पिछले 24 घंटे में सबसे बुरा काल, कोरोना के 3900 नए मामले और 195 मौतें

2020-05-05 16:36:48
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

लॉकडाउन के तीसरे चरण में प्रवेश करने के बावजूद भी भारत में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय के ताज़े आंकड़ों के अनुसार, 5 मई की सुबह 8 बजे तक भारत में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 46433 हो गई है। इनमें 32134 सक्रिय मामले हैं। 12727 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। देश में अब तक 1568 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है।

आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में संक्रमित मरीज़ों की कुल संख्या 14541 पहुंच गई है। उधर, गुजरात में अब संक्रमित लोगों की कुल संख्या 5804 तक पहुंच गई है। वहीं, भारत की राजधानी दिल्ली में कोरोना से संक्रमण के कुल मामले 4898 तक पहुंच गये। इसके बाद तमिलनाडु का नंबर आता है, वहां अब तक 3550 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, राजस्थान में अब तक 3061 पुष्ट मामले सामने आ चुके हैं। इसके अलावा मध्य प्रदेश में 2942 मामले आ चुके हैं, साथ ही उत्तर प्रदेश में भी कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। अब वहां मरीजों की संख्या 2766 हो गई है।

आंकड़ों के मुताबिक, 5 मई की सुबह 8 बजे तक पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के जो आंकड़े सामने आए हैं वो चिंताजनक हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे के भीतर भारत में कोरोना वायरस के 3900 नए मामले सामने आए हैं। इसी 24 घंटे के भीतर 195 लोगों की मौत हो गई है। जो भारत में कोरोना वायरस फैलने के बाद सबसे बुरा 24 घंटा माना जाता है।

हालांकि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक अच्छी खबर भी सामने आई है कि कोरोना से ठीक होने की दर और ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हुई है। भारत में रिकवरी रेट बढ़कर 27.52 फीसदी हो चुका है। दूसरी तरफ़ अभी तक भारत में रोजाना कोरोना टेस्ट की संख्या भी दिन प्रति दिन बढ़ रही है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के मुताबिक अभी भारत में 421 लैब काम कर रहे हैं। जिनमें 310 के करीब सरकारी लैब काम कर रहे हैं और 10 लाख से ज्यादा टेस्ट कर चुके हैं। अभी भारत में एक दिन में 75 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं। डॉ. हर्षवर्धन ने यह भी कहा कि भारत में 31 मई तक का लक्ष्य 1 लाख रोजाना टेस्ट का है, तो मई की शुरुआत में ही 75 हजार टेस्ट हो रहे हैं।

आपको बता दें कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण को काबू करने के लिए लॉकडाउन का प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक था, जिसे बाद में बढ़ाकर 3 मई तक (दूसरा चरण) किया गया था। लॉकडाउन को दो और हफ्ते (तीसरा चरण) के लिए बढ़ाने का फैसला ऐसे समय में लिया गया है, जब विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। लॉकडाउन का तीसरा चरण 4 मई से 17 मई तक जारी रहेगा। (रमेश)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories