मुरे-लाहौर डीसी ट्रांसमिशन परियोजना ने महामारी रोकने के सख्त उपाय किये

2020-04-09 11:20:23
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

इस समय पाकिस्तान में कोरोनावायरस की स्थिति लगातार गंभीर हो रही है, जिससे चीन-पाक आर्थिक गलियारा परियोजना के निर्माण पर दबाव बढ़ गया है।

चीन-पाक आर्थिक गलियारे के ढांचे के भीतर एकमात्र बिजली पारेषण (ट्रांसमिशन) परियोजना-पाकिस्तान की मुरे-लाहौर डीसी ट्रांसमिशन परियोजना ने सख्त महामारी रोकथाम व नियंत्रण उपाये किये, ताकि परियोजना की सुचारू प्रगति सुनिश्चित की जा सके।

अप्रैल की शुरुआत में, पंजाब के लाहौर शहर में लॉकडाउन होने के कारण पूरा शहर बंद रहा, लेकिन लाहौर से 40 किलोमीटर दूर मुरे-लाहौर डीसी ट्रांसमिशन परियोजना के लाहौर कनवर्टर स्टेशन पर निर्माण कार्य पूरे जोश के साथ जारी रहा।

योजनानुसार, इस परियोजना को 2021 के मार्च में चालू किया जाएगा। परियोजना को निर्धारित समय में पूरा करने को सुनिश्चित करने के लिये 26 जनवरी से परियोजना ने सख्त महामारी रोकथाम व नियंत्रण उपाये किये।

परियोजना में कोरोना वायरस के प्रवेश को रोकने के लिए देश से लौटने वाले सभी चीनी कर्मियों पर एक सख्त संगरोध प्रणाली अमल में लायी गई।

परियोजना में पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारी खालिद हुसैन ने कहा, प्रकोप के बाद से उनके स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए हर दिन उनके महामारी की रोकथाम कार्य पर जांच करती है। इसे लेकर उन्हें बहुत अच्छा लगता है।
पाकिस्तान के सिंध और पंजाब सरकार ने 22 और 23 मार्च को क्रमिक रूप से नाकाबंदी की घोषणा की। 26 मार्च को मुरे-लाहौर डीसी ट्रांसमिशन परियोजना ने भी कनवर्टर स्टेशन के निर्माण स्थल में बंद प्रबंधन लागू किया।

अंजली



शेयर