भारत स्थित चीनी राजदूत ने चीन और भारत साथ-साथ आगे बढ़ें शीर्षक आलेख जारी किया

2020-04-01 16:09:48
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/2


चीन और भारत के बीच राजनयिक संबंध स्थापना की 70वीं वर्षगांठ के मौके पर भारत स्थित चीनी राजदूत सुन वेइतुंग ने चीन और भारत साथ-साथ आगे बढ़ें शीर्षक आलेख जारी किया ।

आलेख में कहा गया कि इस वक्त दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की प्रारंभिक आकांक्षा का सिंहावलोकन कर अचछे पड़ोसियों जैसी मित्रता ,एकता और सहयोग भावना का प्रचार करना अत्यंत अहम है ।नये प्रस्थान बिंदु पर खड़े होकर दोनों देशों की जनता के बीच हजारों वर्षों की गहरी मित्रता को संभालकर दो बड़ी सभ्यताओं के बीच आदान-प्रदान करना और एक दूसरे से सीखना चीन और भारत द्वारा नवोदित बड़े पड़ोसी देशों के बीच सहअस्थित्व का रास्ता निकालने में नया विषय डालेगा ।

राजदूत सुन ने आलेख में बल दिया कि चीन और भारत हमसफर हैं। वर्तमान में विश्व भर में कोविड-19 महामारी फैल रही है ।चीन और भारत एक साथ कोविड-19 का मुकाबला कर रहे हैं ।राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने जी-20 विशेष शिखर सम्मलेन में भाषण देते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को विश्वास मजबूत कर एकजुट होकर इस भारी संक्रामक रोग के साथ संघर्ष को जीतना चाहिए ।चीन और भारत एक दूसरे का समर्थन करते हुए मिलकर वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए योगदान देंगे ।

आलेख में कहा गया कि चीन भारत संबंधों में आज जो उपलब्धियां प्राप्त हुईं हैं ,उनको पाना आसान नहीं है और वे कई पीढ़ियों की कोशिशों का परिणाम है ।इस दौरान कई महत्वपूर्ण अनुभव हासिल हुए हैं ।

पहला ,नेताओं के रणनीतिक मार्गदर्शन पर कायम रहना ।दूसरा ,मैत्रीपूर्ण सहयोग के समग्र रुझान को बनाए रखना ।तीसरा ,पारस्परिक सहयोग का विस्तार करना ।चौथा ,अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय मामलों के तालमेल को मजबूत करना ।पांचवां ,मतभेदों का समुचित निपटारा करना ।

आलेख में कहा गया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों ने वसुधैव कुटुम्बकम चर्चा की ,जो चीन के पूरी दुनिशा में सौहार्द (थ्येन शा ता थुंग) होने का अवधारणा से मिलता-जुलता है ।पूर्व की प्राचीन बुद्धिमता आज तक ओजस्वी बनी है ।मुझे पक्का विश्वास है कि चीन और भारत को पर्याप्त दूरदृष्टि और क्षमता है कि वे बड़े नवोदित पड़ोसी देशों के नाते मैत्रीपूर्ण सह-अस्तित्व से रहने का रास्ता निकालकर साथ-साथ आगे बढ़ेंगे और अगले 70 वर्षों में फिर शानदार उपलब्धि प्राप्त कर एक साथ मानव समुदाय के साझे भविष्य का नया अध्याय जोड़ेंगे ।(वेइतुंग)

शेयर