सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

(इंटरव्यू) चीन बहुत जल्द ही इस विपदा से बाहर आ जाएगा : राजेश पुरोहित

2020-02-13 18:02:20
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

“चीन की अर्थव्यवस्था पर नये कोराना वायरस महामारी का प्रभाव अस्थायी है, कुछ समय बाद सब सामान्य हो जायेगा,” चीन में प्रवासी भारतीय समुदाय संघ (एनआरआई इन चाइना) के संस्थापक राजेश पुरोहित ने चाइना मीडिया ग्रुप को दिए एक ख़ास इंटरव्यू में यह बात कही।

चीन में पिछले 6 वर्षों से रह रहे राजेश पुरोहित दक्षिण चीन के क्वांगतोंग प्रांत के चोंगशान क्षेत्र में एलईडी लाइट्स का कारोबार करते हैं। उन्होंने इंटरव्यू के दौरान कहा, “इन दिनों चीन में बहुत बड़ी विपदा आयी हुई है, जिसका सभी लोग मिलकर सामना कर रहे हैं। चीन सरकार इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए तमाम एहतियाती उपाय कर रही है। उम्मीद है कि चीन जल्द ही इस महामारी को खत्म कर सामान्य जीवन में लौट आएगा।”

उन्होंने यह भी कहा, “यहां लोगों में दहशत का माहौल बिलकुल भी नहीं है और वे सरकार के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं। इस कठिन समय में चीन में प्रवासी भारतीय चीन के साथ खड़े हैं और महामारी की रोकथाम में अपना योगदान दे रहे हैं।” उन्होंने यह भी कहा कि चीन में रह रहे विदेशियों को चीन सरकार का बहुत अच्छा सहारा और समर्थन मिल रहा है।

चीन के महामारी की रोकथाम और नियंत्रण करने के प्रयासों से अभिभूत राजेश पुरोहित ने कहा कि चीन ने जिस तेजी से अस्पतालों का निर्माण किया है और सर्जिकल मास्क बनाने की मशीनरी बढ़ाई है, वो बिल्कुल काबिल-ए-तारीफ हैं। उन्होंने चीन के प्रयासों को अकल्पनीय बताया और कहा कि वो इतिहास को बनते हुए देख रहे हैं कि बिना मनोबल गिराये विपदा के खिलाफ कैसे जंग लड़ी जाती है। उन्होंने अपने अनुभव को अविस्मरणीय बताया।

राजेश ने यह भी कहा, “महामारी से पार पाने के लिए चीन ने अपनी अर्थव्यवस्था में और पूंजी लगाई है, साथ ही लोगों के ब्याज दरों में कटौती की है और कर कम किये हैं। सरकार पूरी तरह से अपने लोगों के हितों का ध्यान रख रही है, साथ ही लोग भी सरकार के साथ सहयोग कर रहे हैं।”

राजेश पुरोहित ने इंटरव्यू में यह भी कहा कि चीन की अर्थव्यवस्था पर महामारी का प्रभाव अस्थायी है, कुछ समय बाद सब सामान्य हो जायेगा। चीन जब महामारी पर काबू पा लेगा तब सब कुछ सुधर जाएगा। चीन अपनी स्थिति और परिस्थिति के अनुसार नीतियों में बदलाव करता है और चीन में नीतियों का क्रियान्वयन भी बहुत अच्छा है। चीन बहुत जल्द ही इस विपदा से बाहर आ जाएगा।

(अखिल पाराशर)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories