सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

भारतीय विदेश सचिव श्रिंगला से मिले स्वन वेइतोंग

2020-02-09 17:44:21
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

7 फरवरी को भारत स्थित चीनी राजदूत स्वन वेइतोंग ने भारतीय विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रिंगला से मुलाकात की और चीन-भारत संबंध खास तौर पर नये कोरोना वायरस निमोनिया(एनसीपी) के मुकाबले में द्विपक्षीय समन्वय व सहयोग पर विचार-

विमर्श किया।

इस मौके पर स्वन वेइतोंग ने कहा कि चीन और भारत दोनों प्राचीन सभ्यता वाले देश हैं, साथ ही दोनों 1 अरब से अधिक आबादी होने वाले नवोदित देश हैं। दोनों देश तेज विकास के अहम दौर में रहे हैं। चीन-भारत संबंधों का क्षेत्रीय और वैश्विक अर्थ है। इस साल चीन और भारत के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ और मानवीय आदान-प्रदान वर्ष है। दोनों को उच्च स्तरीय आवाजाही को बरकरार रखकर तंत्रीय सहयोग को मजबूत करना चाहिए, मनाने की विविधतापूर्ण गतिविधियों का आयोजन करना चाहिए और संवेदनशील समस्याओं का अच्छी तरह निपटारा करना चाहिए। राजदूत स्वन ने चीन द्वारा महामारी के मुकाबले में प्राप्त

नयी प्रगति का परिचय दिया। उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ ने चीन के प्रयास की भारी सराहना की और चीन के खिलाफ पर्यटन या व्यापार पाबंदी लगाने का विरोध करिया। चीन और भारत दोनों पड़ोसी देश हैं। आशा है कि भारत यथार्थ और उचित रूप से महामारी का आंकलन कर चीन के प्रयास का समर्थन करेगा।

मुलाकात में श्रिंगला ने कहा कि भारत और चीन के नेताओं ने दो बार अनौपचारिक भेंटवार्ताएं कीं। इस साल दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। दोनों को मनाने की सिलसिलेवार गतिविधियों की तैयारी करनी चाहिए, उच्च स्तरीय आवाजाही को बरकरार रखना चाहिए, व्यापार और निवेश को बनाए रखना चाहिए, और अधिक मानवीय आवाजाही करना चाहिए और मतभेदों का अच्छी तरह निपटारा करना चाहिए। उन्होंने भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए चीन द्वारा दिये गये समर्थन के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि भारत चीन के साथ महामारी का निपटारा करना चाहता है।

(श्याओयांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories