पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने चीन से कृषि तकनीक सीखने की अपील की

2019-10-31 10:31:29
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने 30 अक्तूबर को इस्लामाबाद में आयोजित चीन-पाकिस्तान कृषि सहयोग मंच में भाग लिया। उन्होंने कृषि क्षेत्र में चीन से जल उपयोग, ब्रीडिंग, मशीनीकरण के बारे में अनुभवों को सीखते हुए कृषि उत्पादों का अतिरिक्त मूल्य और निर्यात बढ़ाने की अपील की।

आरिफ अल्वी ने कहा कि चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर लोगों की भलाई का स्रोत है। विश्वास है कि द्विपक्षीय सहयोग का स्तर निरंतर उन्नत होने के साथ-साथ आने वाले सालों में दोनों देश कृषि क्षेत्र में प्रचुर उपलब्धियां हासिल करेंगे।

पाकिस्तान स्थित चीनी राजदूत याओ चिंग ने मंच पर कहा कि चीन व पाकिस्तान दोनों बड़े कृषि देश हैं। चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर में कृषि क्षेत्र के सहयोग पर ध्यान केंद्रित करने का नया चरण शुरू हुआ। वर्तमान मंच ने दोनों देशों के उद्यमों के लिए संपर्क स्थापित करने और सहयोग बढ़ाने के द्वार खोले हैं। चीन दृढ़ता के साथ कृषि प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण, कृषि उत्पादों का अतिरिक्त मूल्य बढ़ाने, संयुक्त उद्यमों की स्थापना समेत क्षेत्रों के सहयोग का समर्थन करता है।

पाक खाद्य सुरक्षा और अनुसंधान मंत्री साहिबजादा सूडान ने शिनहुआ न्यूज एजेंसी से साक्षात्कर करते हुए कहा कि पाकिस्तान के आर्थिक कोर उद्योग के रूप में कृषि में किराये पर पूरे पाकिस्तान की 40 प्रतिशत श्रम शक्ति ली गयी, जिसका सकल घरेलू उत्पाद मूल्य में योगदान दर 20 प्रतिशत है। वर्तमान मंच ने तकनीकी सहयोग बढ़ाने में दोनों देशों को मौका प्रदान किया।

मीनू

शेयर