चीन अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच तीसरी वार्ता की सहमति का परिचय दिया वांग यी ने

2019-09-08 15:23:01
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

7 सितंबर को चीनी स्टेट कांसुलर, विदेश मंत्री वांग यी ने इस्लामाबाद में चीन, अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच तीसरी वार्ता में भाग लेने के बाद संवाददाताओं को इस बार की वार्ता में प्राप्त सहमतियों का परिचय दिया।

वांग यी ने कहा कि वर्तमान में अफ़ग़ानिस्तान की सुलह प्रक्रिया को महत्वपूर्ण अवसर मिला, लेकिन आतंकवाद और सुरक्षा की स्थिति अब भी गंभीर है। इतिहास में छोड़े गये कुछ विवाद फिर से गर्म हो रहे हैं, क्षेत्रीय स्थिरता के सामने नई चुनौतियां मौजूद हैं। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में एकतरफावाद और संरक्षणवाद बढ रहा है, जिससे चीन अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान समेत विकासशील देशों के वैध अधिकारों और हितों को नुकसान पहुंचा है। इस स्थिति में चीन अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच वार्ता का आयोजन बहुत सामयिक और आवश्यक है।

वांग यी ने इस बार की वार्ता में प्राप्त व्यापक सहमतियां बताई।

पहला, हम सहमत हैं कि चीन अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के बीच सहयोग शुरू होने से तीनों पक्षों के बीच एकता और सहयोग बढ़ाने, अफगानिस्तान में राजनीतिक सुलह को बढ़ावा देने, क्षेत्रीय परस्पर संबंधों को मजबूत करने और क्षेत्रीय समान विकास को आगे बढ़ाने के लिए सकारात्मक उपलब्धियां हासिल हुईं।

दूसरा, हम इस बात पर सहमत हैं कि अफगानिस्तान की स्थिति एक गंभीर चरण में प्रवेश कर चुकी है।

तीसरा, हम सभी इस बात से सहमत हैं कि अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के बीच संबंध में सुधारना दोनों देशों और यहां तक कि क्षेत्रीय शांति, स्थिरता और विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

चौथा, हम सभी इस बात पर भी सहमत हैं कि बेल्ट एंड रोड पहल के ढांचे में तीनों पक्षों के बीच सहयोग को आगे बढ़ाया जाए।

पांचवां, हम सहमत हैं कि आतंकवाद और सुरक्षा सहयोग को गहरा किया जाना चाहिए।

वांग यी ने कहा कि तीनों पक्षों ने इस वार्ता की सहमतियों और उपलब्धियों को पूरी तरह से प्रतिबिंबित करने के लिए एक संयुक्त बयान जारी करने पर सहमति जताई।


(वनिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories