सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

अफगान भविष्य की राजनीतिक व्यवस्था के तीन सिद्धांतों पर वांग यी की चर्चा

2019-09-08 15:20:40
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

7 सितंबर को चीनी स्टेट कांसुलर, विदेश मंत्री वांग यी ने इस्लामाबाद में चीन, अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच तीसरी वार्ता में भाग लेने के बाद संवाददाताओं से मुलाकात की। उन्होंने अफगानिस्तान की वर्तमान स्थिति पर चीन की राय का परिचय दिया।

वांग यी ने कहा कि हाल के समय तक अमेरिका और तालिबान के बीच वार्ता में महत्वपूर्ण प्रगति हासिल हुई और उन्होंने शांतिपूर्ण समझौते पर सैद्धांतिक सहमतियां प्राप्त कीं। हमने अमेरिका और तालिबान से यह अपील की कि वे लगातार वार्ता को आगे बढ़ाते हुए समझौते का कार्यान्वयन करें, सैनिकों को वापस लेने और आतंकवाद विरोधी के वचन का पालन करें, ताकि शांति साकार हो सके।

वांग यी ने कहा कि अफगानिस्तान के भाग्य का फैसला अफगान लोगों को करना चाहिए। चीन का विचार है कि भविष्य में अफगानिस्तान की राजनीतिक व्यवस्था इन तीन सिद्धांतों के अनुसार की जानी चाहिए।

पहला, व्यापक प्रतिनिधित्व और समावेशी होना चाहिए, अफगानिस्तान की विभिन्न पार्टियों और पक्षों, विभिन्न जाति के लोगों को समान रूप से राष्ट्रीय राजनीतिक जीवन में भाग लेते हुए राष्ट्रीय अधिकार साझा करने चाहिए। ऐसा करने से अफगानिस्तान के भविष्य में एकता का राजनीतिक आधार हो सकती है।

दूसरा, मजबूती से आतंकवाद पर हमला किया जाना चाहिए, कभी भी अफगानिस्तान को आतंकी संगठनों का अड्डा न बनने दें। ऐसा करने से अफगानिस्तान के भविष्य की एक स्थिर सुरक्षा गारंटी होगी।

तीसरा, शांतिपूर्ण और मैत्रीपूर्ण विदेश नीति का पालन किया जाना चाहिए, दुनिया के विभिन्न देशों विशेषकर पड़ोसी देशों के साथ शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व होना चाहिए, ताकि क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के लिए एक रचनात्मक भूमिका निभाई जा सके। ऐसा करने से अफगानिस्तान के भविष्य में अनुकूल बाहरी वातावरण होगा।(वनिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories