भारतीय लैंडर ने अंतिम ट्रैक को बदलना पूरा किया

2019-09-05 14:34:20
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/2

4 सितंबर को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा कि हाल ही में विक्रम लैंडर को चंद्रयान-2 से अलग कर दिया गया, इस के बाद विक्रम लैंडर ने दो बार ट्रैक को बदलना पूरा किया। अब लैंडर उतरने के लिए उस ऊंचाई पर पहुंचा है और 7 सितंबर को चंद्रमा की सतह पर उतरेगा।

इसरो ने 4 तारीख़ को एक बयान जारी कर कहा कि चंद्रयान-2 अभी भी मूल कक्षा पर चंद्रमा के चारों ओर उड़ रहा है। वर्तमान में दोनों सामान्य रूप से काम कर रहे हैं। योजना के अनुसार विक्रम 7 सितंबर को 1 से 2 बजे के बीच उतरना शुरू करेगा।

भारतीय एनडीटीवी टीवी की रिपोर्ट के अनुसार चांद पर पहुंचने की योजना अंतिम महत्वपूर्ण चरण में प्रवेश कर चुका है। विक्रम चाँद की सतह पर उतरने के बाद चंद्रमा पर चलने वाला यंत्र 7 तारीख़ को साढ़े पाँच बजे से साढ़े छै बजे तक अनुसंधान कार्य शुरू करेगा और चंद्रमा की सतह पर पानी और खनिज जैसे डेटा एकत्र करेगा।

(आलिया)

शेयर