जी-20 शिखर सम्मेलन चीन-अमेरिका व्यापार संघर्षण को हल करने का एक अवसर है

2019-06-21 15:57:58
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

“पाकिस्तान टुडे” अखबार के संपादक मियां अबरार ने 20 जून को कहा, वर्तमान में चीन के मुकाबले अमेरिकी सरकार की आर्थिक नीति अमेरिका के लिए अधिक हानिकारक है, आगामी जी-20 शिखर सम्मेलन चीन-अमेरिका आर्थिक और व्यापार घर्षण को हल करने का अवसर प्रदान करेगा।

अबरार ने उस दिन पत्रकारों को बताया कि अमेरिकी सरकार द्वारा एकतरफा तरीके से उकसाए गए चीन-अमेरिका आर्थिक और व्यापार घर्षणों ने अमेरिकी अर्थव्यवस्था को बहुत नुकसान पहुंचाया है। हालांकि अमेरिका का कहना है कि अमेरिका में चीनी निर्यात पर टैरिफ़ लगाने से सिर्फ़ चीन को ही नुकसान हो रहा है, फिर भी वास्तव में अमेरिकी कंपनियों और उपभोक्ताओं को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

अबरार ने कहा, अमेरिका ने व्यापार घर्षण को उकसाया है, अब तक चीन नियंत्रित कर रह है, आशा है कि बातचीत के माध्यम से समस्याओं को हल किया जाएगा। लेकिन अमेरिका के आक्रामक रुख ने व्यापार घर्षणों को बढ़ा दिया है। आज अमेरिका में व्यापार युद्धों के खिलाफ़ कई आवाज़ें भी उठ रही हैं।

अबरार का विचार है कि वर्तमान स्थिति में जापान में आयोजित होने वाला जी-20 शिखर सम्मेलन इस समस्या को हल करने का एक अवसर है और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की आशा है कि अमेरिका बातचीत की मेज़ पर लौट आए।

आलिया

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories