इंडिया में एक बार फिर मोदी की जीत

2019-05-24 10:42:42
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

इंडिया में एक बार फिर मोदी की जीत

इंडिया में एक बार फिर मोदी की जीत

भारत में एक बार फिर से मोदी लहर चल गयी है। लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) को प्रचंड बहुमत मिल गया है। इस तरह मोदी का फिर से प्रधानमंत्री बनना निश्चित है। चुनाव आयोग ने सभी 542 सीटों के नतीजे घोषित कर दिए। नतीजों के मुताबिक भाजपा को अकेले ही 303 सीटें हासिल होना तय है । जबकि एनडीए को 348 सीटों पर जीत मिल सकती हैं। वहीं कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों को 94 सीटें, निर्दलीय उम्मीदवारों को 100 सीटें मिलने का अनुमान है।

यहां बता दें कि पिछले चुनावों में भाजपा को अपने दम पर 282 सीटें हासिल हुई थी। जबकि गठबंधन को 336 सीटों पर जीत मिली थी। इस तरह भाजपा अपना पिछला ही रिकॉर्ड तोड़ने जा रही है।

एनडीए को सबसे अधिक सीटें यूपी से मिली हैं। जबकि यूपीए को तमिलनाडु में सबसे अधिक सीटें हासिल हुई हैं।

यहां बता दें कि जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद मोदी देश के तीसरे और पहले गैर-कांग्रेसी नेता होने का गौरव हासिल करने जा रहे हैं, जो लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने वाले हैं।

भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य व प्रमुख भाजपा नेता तरुण विजय ने सीआरआई के साथ बातचीत में कहा कि यह भारतीय चुनावों के इतिहास में एक युगांतकारी चुनाव रहा। जिसमें भाजपा ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जबरदस्त बहुमत हासिल किया है। इस तरह हमारी सरकार जनता की आशाओं और आकांक्षाओं पर पूरी तरह खरी उतरी है।

उधर सरकार को मिली बड़ी जीत पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा को इतनी बड़ी जीत दिलाने के लिए आपका बहुत-बहुत अभिनंदन। मैं देशवासियों के प्रति हृदय से कृतज्ञता व्यक्त करती हूं।

जबकि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि, यह परिणाम विपक्ष द्वारा किए गए दुष्प्रचार, झूठ, व्यक्तिगत आक्षेप और आधारहीन राजनीति के विरुद्ध भारत का जनादेश है।

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री व बीजेपी के फायरब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ ने भी प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा को बधाई दी है।

इस बीच भाजपा और राजग को हासिल हुए जबरदस्त बहुमत पर पूरे देश भर में जश्न का माहौल है। भाजपा और सहयोगी दलों के प्रशंसकों की खुशी का कोई ठिकाना नहीं है, क्योंकि उन्होंने पिछले लंबे समय से जो मेहनत की, उसका नतीजा जीत के रूप में दिख गया है।

इन चुनाव परिणामों ने राहुल गांधी के नेतृत्व और समूचे विपक्ष को अपनी रणनीति पर फिर से गंभीरता से सोचने पर मजबूर कर दिया है।

इससे पहले चुनाव आयोग की मतगणना के रुझानों के मुताबिक सुबह से ही भाजपा को 290 से अधिक सीटें मिलने की बात कही जा रही थी। एनडीए को 340 से अधिक सीटों पर बढ़त मिली हुई थी। ये रुझान चुनाव नतीजों के रूप में परिवर्तित भी हो गए।

हालांकि अंतिम चुनाव परिणाम के लिए लोगों को देर रात तक का इंतजार करना पड़ा। क्योंकि इस बार वोटों को वीवीपैट से मिलाया गया। जिसके चलते चुनाव नतीजे आने में देरी हुई।

उधर वोटिंग खत्म होने के बाद आए एग्जिट पोल के नतीजों में भी मोदी सरकार को पूर्ण बहुमत मिलने का दावा किया गया था।

गौरतलब है कि 17वीं लोकसभा के लिए सात चरणों में चुनाव आयोजित किए गए। जहां पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को वोट डाले गए, वहीं अंतिम चरण की वोटिंग 19 मई को हुई। चुनाव परिणाम गुरुवार यानी 23 मई की शाम को जारी किए गए।

अनिल आज़ाद पांडेय

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories