चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा "एक पट्टी एक मार्ग" निर्माण में हमेशा अग्रणी रहने की संभावना है

2019-04-19 15:08:44
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा "एक पट्टी एक मार्ग" निर्माण में हमेशा अग्रणी रहने की संभावना है

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा "एक पट्टी एक मार्ग" निर्माण में हमेशा अग्रणी रहने की संभावना है

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे का निर्माण 2013 पेश किया गया। अब तक उसे ग्वादर बंदरगाह, ऊर्जा और यातायात के बुनियादी संस्थापनों और औद्योगिक सहयोग जैसे क्षेत्रों में बड़ी प्रगति मिली है, जो "एक पट्टी एक मार्ग" ढांचे के तहत बनाई जा रही सबसे अधिक परियोजनाओं वाली और सबसे तेज़ प्रगति हासिल कर रही सहयोग योजना बन गयी है। पाकिस्तान स्थित चीनी राजदूत याओ चिंग ने 18 अप्रैल को पाकिस्तान स्थित चीनी मीडिया के साथ इंटरव्यू में कहा कि भविष्य में चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे का गहन रूप से विकास होगा, ताकि इस गलियारे के निर्माण में मिली उपलब्धियां पाकिस्तान के आर्थिक विकास की शक्ति बनने की गारंटी की जा सके, चीन, पाकिस्तान और आसपास के क्षेत्रों के लोगों को इससे लाभ मिल सके।

वर्तमान में पाकिस्तान में चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे की पूरी की गई और निर्माणाधीन 22 परियोजनाएं हैं। याओ चिंग का विचार है कि सिलसिलेवार परियोजनाओं का कार्यान्वयन केवल चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के निर्माण की शुरूआत है और महत्वपूर्ण बात है कि इन परियोजनाओं को पाकिस्तान के आर्थिक विकास को आगे बढ़ाने की शक्ति बनाई जाएगी। इसके लिए एक दीर्घकालिक प्रक्रिया की आवश्यकता होती है। इसके साथ चीन और पाकिस्तान गलियारे के निर्माण में तीसरे पक्ष को खोलने और विस्तारित करने के मामले पर भी अध्ययन कर रहे हैं।

(वनिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories