चीन और पाकिस्तान जन जीवन सहयोग संधि पर हस्ताक्षर करेंगे

2019-04-18 10:54:12
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन और पाकिस्तान जन जीवन सहयोग संधि पर हस्ताक्षर करेंगे

चीन और पाकिस्तान जन जीवन सहयोग संधि पर हस्ताक्षर करेंगे

पाकिस्तान स्थित चीनी राजदूत याओ चिंग ने 17 अप्रैल को कहा कि चीन सरकार के निमंत्रण पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस महीने पेइचिंग में आयोजित दूसरे“बेल्ट एंड रोड”अंतरराष्ट्रीय सहयोग शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। इसी दौरान दोनों पक्ष जन जीवन के क्षेत्रों में सिलसिलेवार सहयोगी संधियों पर हस्ताक्षर करेंगे।

राजदूत याओ चिंग ने उस दिन इस्लामाबाद में“चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडॉर——क्षेत्रीय आर्थिक वृद्धि और स्थिरता का शगुन”शीर्षक पुस्तक के विमोचन समारोह में भाग लिया और कहा कि चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडॉर से पाकिस्तान के अर्थतंत्र, स्थानीय स्थिरता व समृद्धि में जीवन शक्ति संचार हुई। उन्होंने कहा कि पाक प्रधानमंत्री की चीन यात्रा के दौरान दोनों देश कोरिडॉर के आगे विकास पर विचार विमर्श करेंगे और सिलसिलेवार समझौतों पर हस्ताक्षर करेंगे, जो शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, सिंचाई के पानी, गरीबी उन्मूलन और मानव संसाधन आदि जन जीवन के क्षेत्रों से संबंधित हैं।

चीन और पाकिस्तान जन जीवन सहयोग संधि पर हस्ताक्षर करेंगे

चीन और पाकिस्तान जन जीवन सहयोग संधि पर हस्ताक्षर करेंगे

याओ चिंग के मुताबित भावी 3 सालों में चीन सरकार पाकिस्तान में अध्ययन करने जाने वाले 20 हज़ार चीनी विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति मुहैया करवाएगी, पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा और बलूचिस्तान दोनों प्रांतों में अस्पताल स्थापित करेगी, पाकिस्तान के विभिन्न स्थलों में व्यावसायिक और तकनीकी प्रशिक्षण संस्थानों की स्थापना करेगी। चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडॉर के निर्माण में तीसरे पक्षों की भागीदारी की चर्चा करते हुए राजदूत याओ चिंग ने कहा कि यह कोरिडॉर क्षेत्रीय सहयोग का नया मंच है, त्रि-पक्षीय निवेश से पाकिस्तान के विकास को ज्यादा मौका मिलेगा, वहीं तीसरे पक्ष को आधारभूत संस्थापन की सेवा भी मिलेगी।

जानकारी के अनुसार चीन और पाकिस्तान के 12 विशेषज्ञों और विद्वान ने संयुक्त रूप से किताब“चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडॉर—क्षेत्रीय आर्थिक वृद्धि और स्थिरता का शगुन”लिखी है, जिसमें चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडॉर परियोजना के विकास की स्थिति और इससे पाकिस्तान में लाए गए परिवर्तन, चीन की विकास प्रक्रिया,सुधार और खुलेपन के 40 सालों में चीन में आए परिवर्तन आदि विषय शामिल हैं। 

(श्याओ थांग)


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories