नेपाली विद्वान ने आर्थिक विकास के मॉडल के रूप में बेल्ट एंड रोड पहल की प्रशंसा की

2018-12-30 15:22:15
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

नेपाल के पूर्व अटॉर्नी जनरल, काठमांडू लॉ कॉलेज के प्रमुख डॉ.युबराज सांगरुला

नेपाल के पूर्व अटॉर्नी जनरल, काठमांडू लॉ कॉलेज के प्रमुख डॉ.युबराज सांगरुला

एक नेपाली विद्वान और पूर्व शीर्ष सरकारी अधिकारी ने कहा कि बेल्ट एंड रोड पहल पिछले कुछ वर्षों में दुनिया भर में सबसे बड़े आर्थिक विकास मॉडल में से एक के रूप में सामने आया है।

नेपाल के पूर्व अटॉर्नी जनरल, काठमांडू लॉ कॉलेज के प्रमुखडॉ.युबराज सांगरुला ने "साउथ एशिया चाइना जियो-इकोनॉमिक्स" नामक अपनी पुस्तक में, चीन प्रस्तावित बेल्ट एंड रोड पहल की बहुत प्रशंसा की है। उन्होंने कहा कि इसने सहयोग के सिद्धांत के साथ खुली भागीदारी के सिद्धांत का पालन किया है।

बेल्ट एंड रोड पहल को आर्थिक विकास के एक मॉडल के रूप में उल्लेख करते हुए, लेखक ने कहा कि यह प्रतिभागी देश की राष्ट्रीय संप्रभुता के लिए किसी भी खतरे के बिना राष्ट्रों की समावेशी साझेदारी के सिद्धांत को बनाए रखता है।

2013 में चीन द्वारा प्रस्तावित, सिल्क रोड इकोनॉमिक बेल्ट और 21वीं सदी की मैरीटाइम सिल्क रोड पहल का उद्देश्य सिल्क रोड के प्राचीन व्यापार मार्गों के माध्यम से यूरोप और अफ्रीका के साथ एशिया को जोड़ने वाला एक व्यापार और बुनियादी ढांचा नेटवर्क बनाना है।

"सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह पारंपरिक, हेग्मोनिक या औपनिवेशिक सहयोग की प्रकृति से छुटकारा दिलाता है,"डॉ. सांगरुला ने पुस्तक में बेल्ट एंड रोड पहल ढांचे के तहत सहयोग की प्रकृति के बारे में बात करते हुए कहा।

(अखिल पाराशर)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories