भारत-यूएई मुद्रा विनिमय से आपसी व्यापार मज़बूत करेंगे

2018-12-05 14:58:43
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

दुबई के आबूधाबी में 4 दिबंसर को भारत और युएई के केन्द्रीय बैंकों ने मुद्रा विनिमय पर हस्ताक्षर किये हैं जिससे दोनों देशों में व्यापार पर किसी तीसरी मुद्रा पर निर्भरता कम होगी। ये कदम दोनों देशों के बीच व्यापारिक रिश्तों को बढ़ाने में कारगर होगा। इस बात की जानकारी दुबई में भारतीय दूतावास ने दिया।

भारतीय दूतावास ने ये भी बताया कि इससे दोनों देशों की किसी तीसरे देश की मुद्रा पर निर्भरता कम होगी। हस्ताक्षर समारोह में युनाइटेड अरब अमीरात के विदेश मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के मंत्री शेख अबदुल्लाह बिन ज़ायेद अल नाहयान और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज मौजूद थीं। ये हस्ताक्षऱ समारोह आबूधाबी में होने वाली 12वीं यूएई-भारत ज्वाइंट कमिशन मीटींग के दौरान आयोजित हुआ।

मुद्रा विनिमय से किसी तीसरी मुद्रा पर निर्भरता कम होगी साथ ही वैश्विक बाज़ार में तीसरी मुद्रा के उतार चढ़ाव का असर दोनों देशों पर नहीं पड़ेगा, इसके साथ ही मुद्रा विनिमय के दायरे को बढ़ाने की बात भी की गई।

इसके साथ ही दोनों पक्षों ने अफ्रीका में साझा सहयोग प्रगति पर भी एमओयू पर हस्ताक्षर किये हैं।

वर्ष 2017 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत और युनाइटेड अरब अमीरात के व्यापारिक रिश्ते बहुत गर्माहट वाले हैं, दोनों देशों के बीच 52 बिलियन अमेरिकी डॉलर का व्यापार होता है।

पंकज

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories