पाक विद्वानः पाक पीएम की चीन यात्रा द्विपक्षीय संबंधों को और गहरा करेगी

2018-11-06 15:23:53
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

5 नवम्बर को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने चीन की 4 दिवसीय औपचारिक यात्रा समाप्त की। पाकिस्तान में चीनी मुद्दे के विद्वान जमीर अवान ने सीआरआई के साथ साक्षात्कार में कहा कि इमरान खान की यात्रा द्विपक्षीय तमाम सामरिक सहयोग साझेदारी संबंधों को और गहरा कर सकेगी। चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडोर को गहन रूप से आगे विकसित करने को बढ़ावा देगी और पाकिस्तान को आर्थिक मुसीबतों से छुटकारा पाने में भी मदद दे सकेगी।

इमरान खान की चीन यात्रा के दौरान चीन और पाकिस्तान ने द्विपक्षीय तमाम सामरिक सहयोग साझेदारी संबंधों को प्रगाढ़ करने और नये युग में चीन-पाकिस्तान साझे भाग्य वाले समुदाय की रचना करने का संयुक्त वक्तव्य जारी किया और 15 द्विपक्षीय सहयोग समझौतों और ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए।

जमीर अवान ने कहा कि चूंकि पाकिस्तान के पास भारी विदेशी कर्ज हैं, इसलिए पाकिस्तान को निर्यात का विस्तार करने की जरूरत है। इस मौके पर चीन ने पाकिस्तान को आयात एक्सपो में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया, जो आर्थिक मुसीबतों से बाहर जाने में भारी भूमिका अदा कर सकेगा। इमरान की चीन यात्रा के दौरान दोनों पक्षों ने व्यापार, पूंजी निवेश और वित्त क्षेत्र के सहयोग पर भी चर्चा की। हाल में चीन और पाकिस्तान दोनों के बीच व्यापार में आरएमबी और रूपये के इस्तेमाल पर चर्चा हो रही है। यदि यह संभव हो पाता है, तो चीन के साथ व्यापार में पाकिस्तान यूएस डॉलर का इस्तेमाल नहीं करेगा, जो पाकिस्तान के आर्थिक पुनरुत्थान में बड़ी भूमिका अदा कर सकेगा।

(श्याओयांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories