चीनी राजदूत ने बांग्लादेश थर्मल बिजलीघर का निरीक्षण किया

2018-11-01 15:54:38
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/5

31 अक्तूबर को बांग्लादेश स्थित चीनी राजदूत चांग ज़ुओ ने दक्षिणी बांग्लादेश के बरिसल जिले में निर्मित पाएरा थर्मल बिजलीघर का निरीक्षण किया।      

पाएरा थर्मल बिजलीघर बांग्लादेश में निर्मित सबसे बड़ा कोयला बिजली स्टेशन है जिसकी क्षमता 1320 मेगावाट है। इसके संचालक चीनी मशीनरी आयात-निर्यात निगम और बांग्लादेश की नॉर्थवेस्टर्न पावर कंपनी द्वारा गठित बांग्लादेश-चीन बिजली कंपनी हैं। परियोजना का निवेश 2.2 अरब अमेरिकी डालर है। चीन के ऊर्जा निर्माण कारोबारों ने इसका निर्माण किया। इस बिजली स्टेशन का क्षेत्रफल 28.3 लाख हेक्टर बड़ा है, अब परियोजना में 1927 चीनी कर्मचारी और 5505 बांग्लादेशी कर्मचारी काम कर रहे हैं। बांग्लादेशी प्रधान मंत्री शेख हसीना ने 27 अक्तूबर को इस बिजली परियोजना के पुनर्वास क्षेत्र का निर्माण समाप्त करने वाले समारोह में भाग लिया। बांग्लादेश की सरकार बिजली स्टेशन के निर्माण पर संतुष्ट रहती है।   

चीनी राजदूत चांग ज़ुओ ने कहा कि बिजली स्टेशन से जन्म प्रति इकाई के विद्युत शुल्क में 0.03 टका बांग्लादेश के विकास कोष में डिपोजिट किया जाएगा। इस तरह दोनों पक्षों के बीच संयुक्त विकास करने का मॉडल उपलब्ध होगा, और दोनों देश संयुक्त रूप से उद्योग पार्क का निर्माण करेंगे और एक पट्टी एक मार्ग का उच्च गुणवत्ता वाला विकास किया जाएगा।    

पाएरा थर्मल बिजलीघर की वार्षिक उत्पादन क्षमता 8 अरब 53 करोड़ डिग्री तक रहेगी जो मौजूदा बांग्लादेशी पावर ग्रिड का 15 प्रतिशत रहेगा। बिजली स्टेशन के निर्माण से बांग्लादेश के दक्षिण में ऊर्जा अभाव को हल किया जाएगा।

( हूमिन ) 

शेयर