जुलाई में भारत में सीपीआई पिछले 9 महीने के निचले स्तर पर

2018-08-14 16:54:15
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

सब्जियों की कीमतों में गिरावट और फलों की कीमतों की वृद्धि गति धीमी होने के कारण जुलाई में भारत में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक यानी सीपीआई घटकर 4.17 फीसदी रही। यह पिछले 9 महीने में सबसे कम है। भारतीय केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) ने 13 अगस्त को ये आंकड़े जारी किए।

आकंडों के अनुसार जुलाई में भारतीय सब्जियों की महंगाई घटकर शून्य से 2.19 प्रतिशत नीचे आ गई, जो जून में 7.8 प्रतिशत पर थी। साथ ही भारतीय फलों की मुद्रास्फीति घटकर 6.98 प्रतिशत पर आ गई, जो जून में 10 प्रतिशत से ऊपर थी। इसके अवाला भारत में प्रोटीन वाले उत्पादों मसलन मांस, मछली और दूध की मुद्रास्फीति जुलाई में इससे पिछले महीने की तुलना में कम रही, जबकि ईंधन, अनाज और लाइट खंड की महंगाई में काफी वृद्धि हुई।

सीएसओ ने जून की सीपीआई आधारित मुद्रास्फीति संशोधित कर 4.92 प्रतिशत रखी है। इससे पहले जारी आंकड़ों में यह पांच प्रतिशत पर थी।

बारिश की कमी से भारत में फसल की बुवाई के क्षेत्रफल में कमी दर्ज की गई। इसके अगले कुछ महीने में भारत खाद्य पदार्थों की कीमतों में वृद्धि का सामना करेगा।(हैया)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories