चीन-अमेरिका के व्यापारिक युद्ध से विश्व अर्थव्यवस्था पर असर पड़ेगा

2018-07-09 11:16:55
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

बांग्लादेश के नीति अनुसंधान प्रतिष्ठान के कार्यकारी अध्यक्ष, अर्थशास्त्री अहसान एच. मंसूर ने हाल ही में कहा कि अमेरिकी ट्रंप सरकार की कार्रवाई से विश्व अर्थव्यवस्था को हानि पहुंचेगी। और आर्थिक वृद्धि भी धीमी होगी। चीन-अमेरिका के बीच व्यापारिक युद्ध होने से विश्व अर्थव्यवस्था पर असर पड़ेगा।

डॉक्टर मंसूर ने बांग्लादेशी अख़बार डेली इत्तेफ़ाक को विशेष इन्टरव्यू देते समय कहा कि चीन - अमेरिका विश्व में सबसे बड़े आर्थिक समुदाय ही हैं। दोनों एक दूसरे के बड़े ग्राहक भी हैं। टैरिफ़ बढ़ाने के बाद दोनों देशों को अन्य देशों के साथ व्यापार करना पड़ेगा। दीर्घकालीन दृष्टि से देखा जाए, तो यह दोनों के लिये लाभदायक नहीं होगा। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि व्यापारिक युद्ध के कारण भविष्य के बाज़ार में चीन में बने उच्च तकनीकी उत्पादों और कारों जैसे उच्च मूल्य वाले उत्पादों की संख्या में शायद कमी आएगी। चीन फिर एक बार कपड़ा उद्योग पर ध्यान देगा। यह बांग्लादेश के लिये एक दबाव होगा। उनके अलावा चीन अमेरिका से बड़े पैमाने पर कपास खरीदता है। कपास के दाम बढ़ने के बाद चीन भारत समेत अन्य देशों से कपास खरीदेगा। जिससे कपास के दाम ज़रूर बढ़ेंगे। जिससे बांग्लादेश को हानि भी पहुंचेगी।

डॉक्टर मंसूर के अनुसार ट्रंप सरकार ने न सिर्फ़ चीन के प्रति बल्कि यूरोप और कनाडा समेत कई आर्थिक समुदायों पर भी टैरिफ़ बढ़ाया है। इसलिये चीन की तरह उन देशों को भी अपनी अर्थव्यवस्था की रक्षा करने के लिये बदले में टैरिफ़ बढ़ाना पड़ेगा। जिससे विश्व अर्थव्यवस्था में अस्थिरता पैदा होगी। अगर विश्व व्यापार में 10 प्रतिशत की कम आएगी, तो विश्व आर्थिक वृद्धि में 5 प्रतिशत की कमी आएगी।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories