भारत में 3 हज़ार स्कूलों के छात्रों के बीच नवाचार बढ़ाने पर जोर

2018-06-13 11:03:21
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

भारत में इन दिनों स्कूलों में छात्र-छात्राओं के बीच नवाचार और उद्यम संबंधी भावना को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसी कोशिश के तहत लगभग तीन हजार अतिरिक्त माध्यमिक विद्यालयों को चुना गया है। अटल नवाचार मिशन( एआईएम) ने मंगलवार को जारी विज्ञप्ति में कहा कि इसके लिए देश भर के उक्त स्कूलों के बच्चों को आगे लाया जाएगा।

एआईएम योजना के तहत स्कूलों में छात्रों की प्रतिभा को सामने लाने के लिए 20 लाख रुपए जारी किए गए हैं। जिसके मद्देनजर अटल टिंकरिंग लैब्स की स्थापना की जाएगी। अटल नवाचार मिशन के प्रबंध निदेशक रामनाथन रमन्ना ने कहा कि इन अतिरिक्त 3 हजार स्कूलों में इस तरह की प्रयोगशालाओं का विस्तार किया जाएगा। जिसमें बच्चों को थ्री-डी प्रिंटिंग, रोबोटिक्स, आईओटी और माइक्रोप्रोसेसर्स आदि का सटीक इस्तेमाल करना सिखाया जाएगा।

इस योजना के तहत साल 2020 तक इन क्षेत्रों के 10 लाख से अधिक प्रतिभाशाली और नवाचार में अग्रणी छात्र-छात्राओं की पौध तैयार की जा सकेगी।

गौरतलब है कि यह मिशन नीति आयोग द्वारा चलाया जा रहा है, जो भारत सरकार को नीति और दिशात्मक दोनों तरह की मदद प्रदान करता है। जनवरी 2015 में गठित नीति आयोग को भारत सरकार का प्रमुख थिंक टैंक माना जाता है, जो केंद्र और राज्य सरकारों को अहम तकनीकी सलाह भी देता है।

(अनिल पांडेय)

 

 

 

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories