भारतीय दवा उद्यम चीनी बाजार की बड़ी प्रतीक्षा में हैं

2018-05-09 11:18:03
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

भारतीय दवा उद्यम चीनी बाजार की बड़ी प्रतीक्षा में हैं

भारतीय दवा निर्यात संवर्धन कमेटी द्वारा आयोजित छठा भारतीय अंतर्राष्ट्रीय चिकित्सा और दवा मेला 8 मई को भारत की राजधानी नयी दिल्ली में उद्घाटित हुआ। इसमें शामिल बहुत से भारतीय दवा उद्यमों ने चीन में दवा पर टैरिफ़ कम करने के कदम पर स्वागत किया।

1 मई से चीन ने कैंसर रोधी दवाओं समेत 28 अलग अलग दवाओं पर निर्यात टैरिफ़ को रद्द कर दिया। भारतीय फार्मास्यूटिकल फैक्ट्री और दवा निर्यात उद्यमों ने आम तौर पर इसका स्वागत किया। उनके अनुसार यह चीन-भारत दोनों देशों के आर्थिक, व्यापारिक आदान-प्रदान और आम जनता के सामान्य जीवन के लिये लाभदायक होगा।

भारतीय दवा कंपनी नेक्टर लाइफ़ विज्ञान लिमिटेड कंपनी के सीईओ दिनेश दुआ ने इंटरव्यू देते समय कहा कि चीन अमेरिका के पीछे विश्व का दूसरा बड़ा दवा उपभोग बाज़ार ही है। दवा की निर्यात टैरिफ़ को कम करने से बहुत से भारतीय दवा उद्यमों को लाभ मिलेगा। यह भारतीय दवा कंपनियों के लिये एक अच्छा रुझान है। विश्वास है कि आगामी कई सालों में भारतीय दवा कंपनियां चीनी बाज़ार में अपना विकास कर सकेंगी।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories