रोहिंग्या शरणार्थियों के प्रत्यावर्तन की प्रक्रिया दो साल में होगी पूरी

2018-01-17 14:50:35
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने 16 जनवरी को बयान जारी कर कहा कि बांग्लादेश व म्यांमार ने दो साल में रोहिंग्या शरणार्थियों की प्रत्यावर्तन प्रक्रिया समाप्त करने की योजना बनाई है।

बयान के अनुसार बांग्लादेश व म्यांमार के संयुक्त कार्य दल ने रोहिंग्या शरणार्थियों के प्रत्यावर्तन कार्य पर 15 से 16 जनवरी तक म्यांमार में पहली बैठक आयोजित की। दोनों पक्षों ने रोहिंग्या शरणार्थियों के स्थानांतरण की योजना बनायी। और रोहिंग्या शरणार्थियों के प्रत्यावर्तन को तेज करने को भी कहा गया। योजना के अनुसार यह कार्य शुरू होने के बाद दो वर्ष में पूरा हो जाएगा।

योजना के अनुसार बांग्लादेश पाँच संक्रमण शिविरों की स्थापना करेगा। ताकि शरणार्थी उन शिविरों द्वारा म्यांमार के दो स्वीकार्य शिविरों में पहुंच सकें। म्यांमार जल्द ही मकानों का निर्माण कर शरणार्थियों की तैनाती करेगा।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories