कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल ने चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल के भारत यात्रा का ब्रीफिंग का आयोजन किया

2018-01-11 16:38:09
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल ने चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल के भारत यात्रा का ब्रीफिंग का आयोजन किया

कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल ने चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल के भारत यात्रा का ब्रीफिंग का आयोजन किया

कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल मा चानवू ने 9 जनवरी को स्थानीय ओबेरॉय होटल में ब्रीफिंग का आयोजन किया। इस में उन्होंने आनेवाले चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल की भारत यात्रा और पश्चिम बंगाल में वैश्विक व्यापार शिखर सम्मेलन में भाग लेने की जानकारी दी। द टाइम्स ऑफ इंडिया, द टेलीग्राफ, द स्टेट्समैन अख़बार, नई दिल्ली टेलीविजन स्टेशन और एएनआई टीवी स्टेशन जैसी भारतीय मीडिया के 70 से अधिक संवाददाताओं ने इस ब्रीफिंग में हिस्सा लिया। मा चानवू ने कहा कि आने वाले चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल में चीनी सरकार और उद्यमों के प्रतिनिधि शामिल हैं। 30 से अधिक चीनी उद्यम इस बार के शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। इनमें से चीन के ज्यांग्सू, शेडोंग और युन्नान तीनों प्रातों के 10 उद्यम भारत की पहली यात्रा करेंगे। यात्रा के दौरान चीनी वाणिज्य दूतावास जनरल और भारतीय वाणिज्य मंडल के साथ 16 जनवरी की रात चीन और भारत के उद्यमों के बीच वित्तीय सम्मेलन का आयोजन करेंगे।

मा चानवू ने कहा कि चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधि मंडल की भारत यात्रा 19वीं सीपीसी कांग्रेस के सफल समापन के आधार पर है। पूर्वी भारत “एक पट्टी एक मार्ग” प्रस्ताव के ढांचे बांग्लादेश-चीन-भारत-म्यांमार आर्थिक गलियारे का महत्वपूर्ण भाग है। 19वीं सीपीसी कांग्रेस संबंधी नीतियां चीन और पूर्वी भारत के सभी प्रदेशों के बीच संबंधों के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी। पिछले कुछ वर्षों में चीन और पश्चिम बंगाल के बीच आर्थिक और व्यापारिक संबंध लगातार बढ़ रहा है। चीनी कंपनी पूर्वी भारत के बाज़ार पर ध्यान देती हैं। उम्मीद है कि उनके भारतीय कंपनियों के साथ सहयोग का आगे विस्तार होगा।

उन्होंने आगे कहा कि चीनी उद्यम पश्चिमी बंगाल सरकार के चीन के साथ सहयोग के सद्भाव का अनुभव करते हैं। चीनी उद्यमों को उम्मीद है कि चीन और भारत के बीच संबंधों का पहले से और स्वास्थ्य तथा स्थिर विकास हो सकेगा। इसीलिये दोनों देशों की सरकारों को मित्रवत सहयोग संधि और मुक्त व्यापार समझौतों पर चर्चा और हस्ताक्षर करना चाहिये। इसके अलावा उन्हें सीमा मुद्दे के वास्तविक समाधान को आगे बढ़ाना चाहिये। आशा है कि चीन और भारत “एक पट्टी एक मार्ग” प्रस्ताव “एक्ट ईस्ट पॉलिसी” से जोड़ सकेंगे।

इसके अलावा मा चानवू ने बांग्लादेश-चीन-भारत-म्यांमार आर्थिक गलियारा, पश्चिमी बंगाल में चीन की कुल निवेश मात्रा, चीन उद्यमों के निवेश के मुख्य क्षेत्र, चीन-भारत व्यापार असंतुलन का समाधान और पूर्वी भारत के प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की चीन यात्रा जैसे सवालों का जवाब दिया।

(हैया)

कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल ने चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल के भारत यात्रा का ब्रीफिंग का आयोजन किया

कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल ने चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल के भारत यात्रा का ब्रीफिंग का आयोजन किया


कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल ने चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल के भारत यात्रा का ब्रीफिंग का आयोजन किया

कोलकाता में चीनी काउंसिल जनरल ने चीनी आर्थिक और व्यापार प्रतिनिधिमंडल के भारत यात्रा का ब्रीफिंग का आयोजन किया


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories