चीनी मनवाधिकार कार्य में पर्याप्त प्रगति और विकास हासिल : नेपाली विद्वान

2017-12-07 19:47:09
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3
मानव जाति के साझा भाग्य वाले समुदाय की स्थापना और भूमंडलीय मानवाधिकार प्रशासन को आगे बढ़ाना”शीर्षक शाखा मंच आयोजित हुआ

दक्षिण-दक्षिण मानवाधिकार मंच 7 दिसम्बर को पेइचिंग में उद्घाटित हुआ। नेपाली काठमांडू लॉ कॉलेज के प्रधान युबरराज संग्रावा ने निमंत्रण पर“मानव जाति के साझा भाग्य वाले समुदाय की स्थापना और भूमंडलीय मानवाधिकार प्रशासन को आगे बढ़ाना”शीर्षक शाखा मंच में भाग लिया। उन्होंने कहा कि इधर के दसेक सालों में चीनी मानवाधिकार कार्य में पर्याप्त प्रगति और विकास हासिल हुआ।

संग्रावा ने अपने द्वारा दिए गए भाषण में कहा कि अगर एक देश में मानवाधिकार का विकास नहीं हुआ, तो आर्थिक विकास भी नहीं किया जा सकता और सुधार भी आगे नहीं बढ़ाया जा सकता। वर्तमान में हरेक देश की अपनी-अपनी विकास स्थिति है, लेकिन विभिन्न देशों की जनता के मानवाधिकार की गारंटी दी जानी चाहिए।

चाइना रेडियो इन्टरनेशनल के संवाददाता को दिए एक इन्टरव्यू में संग्रावा ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि दक्षिण-दक्षिण मानवाधिकार मंच ने एक अच्छा मौका दिया है, जिससे विभिन्न देशों के विशेषज्ञ और विद्वान एकत्र होकर विभिन्न देशों में मानवाधिकार की स्थिति और विकास पर गहन रूप से विचार विमर्श कर सकेंगे। नेपाल अविकसित देश है, जिसे अधिक सीखने और प्रगति हासिल करने की जरूरत है।

(श्याओ थांग)

 

शेयर