कोरोनावायरस के साथ एक व्यंग्यात्मक चर्चा

इस समय पूरी दुनिया एक ऐसे दुश्मन से लड़ रही है, जो दिखाई नहीं देता। जी हां, बात कर रहे हैं कोरोनावायरस की, जिसका कहर पूरी दुनिया में जारी है। 

विस्तृत >> चीन

अमेरिका का मानवाधिकार वाकई चौंका देने वाला है

अमेरिका के मिनेसोटा स्टेट में 25 मई की रात को तीन श्वेत पुलिसकर्मियों ने अश्वेत अमेरिकी जॉर्ज फ्रायड को गिरफ्तार किया और मारपीट की। एक पुलिसकर्मी ने काफी देर तक फ्रायड को दबोचे रखा।

डब्ल्यूएचओ से हटने से अमेरिका दूसरे और खुद को नुकसान पहुंचाएगा

कोविड-19 महामारी के वैश्विक मुकाबले के नाजुक वक्त अमेरिकी नेता ने हाल ही में घोषणा की कि अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन से संबंध तोड़ेगा ,क्योंकि डब्ल्यूएचओ ने अमेरिका के सुधार की मांग से इंकार किया ।अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने अमेरिका की इस एकतरफा और घमंडी काररवाई की कड़ी निंदा की ।

कोरोनावायरस के साथ एक व्यंग्यात्मक चर्चा

इस समय पूरी दुनिया एक ऐसे दुश्मन से लड़ रही है, जो दिखाई नहीं देता। जी हां, बात कर रहे हैं कोरोनावायरस की, जिसका कहर पूरी दुनिया में जारी है। 

खुशहाल समाज के निर्माण में कमियां पूर्ति करने पर शी का आलेख जारी

1 जून को प्रकाशित होने वाले छ्योशी मैगजीन पर खुशहाली समाज के निर्माण में कमियां पूर्ति करने पर चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग का अहम आलेख जारी होगा ।

जेएनयू के प्रोफेसर डॉ. स्वर्ण सिंह के साथ ख़ास चर्चा

चीन-भारत संबंध, चीन का गरीबी खत्म करने का लक्ष्य, कोरोना महामारी से किस तरह लड़ा चीन आदि विषयों पर जेएनयू के प्रोफेसर डॉ. स्वर्ण सिंह के साथ ख़ास चर्चा

विस्तृत >>दक्षिण एशिया

भारत में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा

भारतीय गृह मंत्रालय ने उस दिन शाम को आदेश जारी कर कहा कि 1 से 30 जून तक भारत अगले चरण का लॉकडाउन करेगा। इसके दौरान अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों को फिर से शुरू किया नहीं जाएगा, हर दिन रात को 9 बजे से अगले दिन सुबह 5 बजे तक एक राष्ट्रव्यापी कर्फ्यू लगाया जाएगा।

नेपाल में लॉकडाउन 14 जून को हटेगा

नेपाली मंत्रिमंडल ने 30 मई की शाम को आयोजित बैठक में लॉकडाउन को 14 जून तक स्थगित करने का फैसला किया।

चीन और भारत के समान विकास को आगे बढ़ाना दोनों देशों का एकमात्र सही विकल्प है

 भारत स्थित चीनी राजदूत सुन वेई तुंग ने 27 मई को नई दिल्ली में भारतीय युवा प्रतिनिधियों के साथ ऑनलाइन आदान-प्रदान कार्यवाही में कहा कि चीन और भारत के समान विकास को आगे बढ़ाना दोनों देशों का एकमात्र सही विकल्प है, जो दोनों देशों और दोनों देशों की जनता के मूल हित के अनुकूल है।

भारत में तीस ग्रुप कोविड-19 टीके के विकास में जुटे

भारत में केंद्र सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के विजयराघवन ने 28 मई को मीडिया को जानकारी दी कि भारत में अब 30 ग्रुप कोविड-19 टीके के विकास में जुटे हुए हैं ,जिनमें से 20 तेज प्रगति कर रहे हैं ।

बांग्लादेश में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की संख्या 40 हजार से अधिक

बांग्लादेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा 28 मई को जारी आंकड़ों के अनुसार स्थानीय समय के अनुसार 28 मई की सुबह 8 बजे तक देश में कोविड-19 के नए पुष्ट मामलों की संख्या ने एक नया रिकार्ड बना दिया, जो 2029 तक पहुंच गई।

विस्तृत >>विश्व

अमेरिका स्थित चीनी राजदूत ने हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा बनाए रखने के कानून पर आलेख जारी किया

30 मई को अमेरिका स्थित चीनी राजदूत थ्वेइ थ्येन काई ने ब्लूमबर्ग वेबसाइट पर हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा बनाए रखने के कानून पर आलेख जारी किया, जिसका शीर्षक है कि एक देश दो व्यवस्थाएं की सुरक्षा कर हांगकांग की स्थिरता और विकास बहाल करें।

डब्ल्यूएचओ के साथ संबंध खत्म करने की घोषणा के बाद अमेरिका को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से संदेह और आलोचना मिली

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 29 मई को यह घोषणा की कि अमेरिका डब्ल्यूएचओ के साथ संबंध खत्म करेगा और डब्ल्यूएचओ में भुगतान किये जाने वाली बकाया राशि को अन्य स्थानों पर फिर से भेज देगा।

अफ्रीकी-अमेरिकी व्यक्ति की मौत से अमेरिका में नस्लीय भेदभाव जाहिर

हाल में अमेरिका में श्वेत पुलिसकर्मी की हिरासत में एक अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक की मौत हो गई। इस घटना से अमेरिका के अनेक राज्यों में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हो रहे हैं और कुछ स्थलों में प्रदर्शनों ने दंगे का रूप ले लिया। अमेरिका में कोविड-19 के मृतकों की संख्या 1 लाख से अधिक पहुंचने की पृष्ठभूमि में यह

वैश्विक सहयोग से ही कोविड-19 महामारी का खात्मा होगा

पिछले कुछ महीनों में दुनिया की तस्वीर बदल गयी है। क्योंकि अधिकांश देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहे हैं। और विभिन्न देशों में लॉकडाउन जारी है

विशेषज्ञ: एनपीसी में हांगकांग से जुड़ा निर्णय पारित करना महत्वपूर्ण

13वीं एनपीसी के तीसरे पूर्णाधिवेशन में मतदान के जरिए हांगकांग से जुड़े राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा करने की कानूनी व्यवस्था बनाने के निर्णय को पारित करना जरूरी और महत्वपूर्ण है। कई देशों के विशेषज्ञों ने यह बात कही।