चीनी आर्थिक वृद्धि से अरब देशों को मिला बड़ा विश्वास – चीनी प्रवक्ता

2020-09-25 20:30:42
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन और अरब लीग ने 23 सितंबर को“कोविड-19 के मुकाबले में चीन के आर्थिक प्रभाव का अनुभव”शीर्षक वीडियो संगोष्ठी आयोजित हुई, जिसमें अरब देशों के प्रतिनिधियों ने चीन के साथ सहयोग करने की तीव्र इच्छा व्यक्त की और कहा कि चीनी अर्थव्यवस्था की वृद्धि नकारात्मक से सकारात्मक तक परिवर्तित हुई, जिससे अरब देशों को बड़ा विश्वास मिला है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वनपिन ने 25 सितंबर को पेइचिंग में आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

प्रवक्ता के मुताबिक, संगोष्ठी में चीनी विशेषज्ञों ने महामारी की रोकथाम, नियंत्रण, आर्थिक सामाजिक विकास से संबंधित अनुभवों का विस्तृत रूप से ब्यौरा दिया और रोजगार, व्यापार, निवेश, ऊर्जा, संचार, कृषि, तथा विनिर्माण आदि क्षेत्रों में कामकाज व उत्पादन की बहाली वाले कदमों से परिचित करवाया।

प्रवक्ता वांग ने कहा कि महामारी के मुकाबले के दौरान चीन और अरब देशों के बीच कारगर सहयोग किया। दोनों पक्षों के बीच कामकाज और उत्पादन की बहाली, तथा वास्तविक सहयोग के क्षेत्रों में सक्रिय प्रगति भी हासिल हुई। अगले चरण में चीन अरब देशों की मांग के अनुसार यथासंभव समर्थन और सहायता देना चाहता है।

संवाददाता सम्मेलन में प्रवक्ता वांग वनपिन ने यह भी कहा कि चीन सरकार हरित विकास की विचारधारा पर कायम है और पारिस्थितिक सभ्यता के निर्माण को आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक निर्माण के बराबर महत्वपूर्ण स्थान पर रखती है। चीन जैव विविधता के संरक्षण को उच्च महत्व देता है।

उन्होंने परिचय देते हुए कहा कि चीन सरकार ने पारिस्थितिक संरक्षण की मजबूती के लिए क्रमशः 40 से अधिक दस्तावेज जारी किए, जिनसे जैव विविधता के संरक्षण के लिए मजबूत कानूनी और नीतिगत गारंटी दी गई है।

प्रवक्ता ने कहा कि बीते 10 सालों में (2009 से 2019 तक) चीन ने 7 करोड़ 13 लाख 7 हज़ार हेक्टेयर क्षेत्रफल में वन रोपण किया और साथ ही विश्व में वन संसाधन की सबसे अधिक वृद्धि वाला देश बन चुका है। साल 2000 से 2017 तक नए हरित क्षेत्र का एक चौथाई से अधिक हिस्सा चीन में है, दुनिया में वैश्विक हरियाली बढ़ाने में चीन का योगदान सबसे ज्यादा है।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories