अमेरिका के पास चीन को दोष देने का क्या अधिकार है ?

2020-09-23 19:26:28
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम बहस में चीन संबंधी भाषण दिया। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वनपिन ने 23 सितंबर को पेइचिंग में आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र के मंच का प्रयोग कर तथ्यों को अनदेखी करके अपने गुप्त राजनीतिक उद्देश्य के लिए चीन पर बेवजह आरोप लगाया और बदनाम किया। चीन ने इसका दृढ़ता के साथ विरोध किया। तथ्यों से एक बार फिर जाहिर है कि एकतरफ़ावाद और दादागिरी कार्रवाई सारी दुनिया के सामने मौजूद सबसे गंभीर खतरा है।

प्रवक्ता ने बल देते हुए कहा कि झूठी बात सच्चाई का स्थान नहीं ले सकती। महामारी के मुकाबले में चीन की प्रतिक्रिया का प्रदर्शन दुनिया के लिए बहुत स्पष्ट है। अमेरिका बार-बार महामारी को लेकर चीन पर बेवजह दोष मड़ता है, जिसका उद्देश्य अपने देश में महामारी के खिलाफ़ अप्रभावी प्रतिक्रिया की जिम्मेदारी दूसरे को लादना चाहता है, उसकी यह कार्रवाई बिलकुल व्यर्थ है।

जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण संरक्षण मुद्दे की चर्चा करते हुए प्रवक्ता वांग वनपिन ने कहा कि चीन अपने विकास चरण और राष्ट्रीय स्थिति के अनुकूल सक्रिय रूप से अंतरराष्ट्रीय उत्तरदायित्व निभाता है। चीन ने सिलसिलेवार नीतियां अपनाईं और कार्रवाइयां कीं, जिनका परिणाम सर्वमान्य है। चीन के विपरीत, अमेरिका की कार्रवाई ने वैश्विक उत्सर्जन में कमी तथा हरित कम-कार्बन विकास के संवर्धन को बाधित किया।

उन्होंने बल देते हुए कहा कि चीन ने अमेरिका से राजनीतिक खेल बंद कर एकतरफ़ावाद को छोड़ कर विश्व के लिए अपना उत्तरदायित्व निभाने का आग्रह किया।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, संवाददाता सम्मेलन में प्रवक्ता वांग वनपिन ने इस बात की पुष्टि की कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद 24 सितंबर को“अंतर्राष्ट्रीय शांति व सुरक्षा की रक्षा, कोविड-19 महामारी-उपरांत युग में वैश्विक शासन”शीर्षक वीडियो शिखर सम्मेलन आयोजित करेगी। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के विशेष दूत, स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी सम्मेलन में भाग लेंगे।

प्रवक्ता ने आशा जतायी कि विभिन्न पक्ष शिखर सम्मेलन से लाभ उठाकर महामारी के खिलाफ़ सहयोग करेंगे। वैश्विक शासन की संपूर्णता पर गहन रूप से विचार विमर्श करेंगे, ताकि वैश्विक चुनौतियों का और अच्छी तरह मुकाबला किया जा सके। चीन सुरक्षा परिषद के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर सम्मेलन में सक्रिय फल की प्राप्ति को आगे बढ़ाना चाहता है, ताकि बहुपक्षावाद की रक्षा करने, संयुक्त राष्ट्र की भूमिका की मजबूती के लिए मजबूत संकेत दिया जा सके।

प्रवक्ता वांग वनपिन के मुताबिक, चीनी विदेश मंत्री वांग यी 24 सितंबर को पेइचिंग में एशिया में सहयोग और विश्वास बहाली के उपायों (सीआईसीए) के संबंध में सम्मेलन के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों के ख़ास वीडियो कॉन्फ्रेंस में भाग लेंगे। मौके पर वे दूसरे सदस्य देशों के प्रतिनिधिमंडल के अध्यक्षों के साथ कोविड-19 महामारी का समान रुप से मुकाबला, अंतरराष्ट्रीय व क्षेत्रीय स्थिति, विभिन्न क्षेत्रों में सीआईसीए सहयोग आदि मुद्दों को लेकर गहन रूप से विचार विमर्श करेंगे।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories